लाहौर, प्रेट्र। पाकिस्तान में एक हिंदू मंदिर पर हमला मामले में देश के पंजाब प्रांत में शनिवार को पुलिस ने 20 लोगों को गिरफ्तार कर लिया और 150 से अधिक के खिलाफ मामला दर्ज किया है।  मामले में सुप्रीम कोर्ट  की ओर से दखल दिए जाने के बाद पुलिस ने यह कार्रवाई की। कोर्ट ने संबंधित अधिकारियों से अपराधियों को गिरफ्तार करने का आदेश दिया था और कहा कि इस मामले से अंतरराष्ट्रीय मंच पर देश की छवि धूमिल हो रही है।

बता दें कि पाकिस्तान के रहीम यार खान जिले के भोंग (Bhong) शहर में बुधवार को उन्मादी भीड़ ने एक हिंदू मंदिर पर डंडे, ईंट और पत्थरों से हमला कर दिया। इन लोगों ने मंदिर में आगजनी की और  मूर्तियों को भी तोड़ दिया। पाकिस्तानी सांसद और हिंदू समुदाय के नेता रमेश कुमार वंकवानी ने घटना के वीडियो को शेयर किया। इसमें भीड़ को मंदिर के ढांचे को नष्ट करते देखा जा सकता है। भीड़ ने मंदिर में तोड़फोड़ की और मूर्तियों और मंदिर के ढांचे को तोड़ दिया। दरअसल, आठ साल के बच्चे को कोर्ट ने रिहा कर दिया था, जिसपर लोगों ने नाराजगी जताते हुए हिंदू मंदिर को निशाना बनाया। इस बच्चे ने कथित तौर पर स्थानीय मदरसे में पेशाब किया था जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया था।

रहीम यार खान के डिस्ट्रिक्ट पुलिस ऑफिसर असद सरफराज ने कहा, 'हमने अब तक 20 संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है। वीडियो फुटेज के जरिए संदिग्धों की पहचान हुई है और आने वाले दिनों में सभी हिरासत में होंगे।'इन सबके खिलाफ आतंकवाद व अन्य धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होने बताया, 'हम अपराध में शामिल हर संदिग्ध को गिरफ्तार कर लेंगे। कोर्ट के आदेश पर मंदिर का निर्माण कार्य फिर से शुरू हो गया है।' शुक्रवार को पाकिस्तान के चीफ जस्टिस गुलजार अहमद (Gulzar Ahmed) ने कहा कि मंदिर में तोड़ फोड़ देश के लिए शर्मिंदगी की बात है।

Edited By: Monika Minal