काबुल, एजेंसी। अफगानिस्तान में अफगान सेना और तालिबान के बीच संघर्ष जारी है। अफगानिस्‍तान के कई प्रमुख शहरों में तालिबान और अफगान सुरक्षा बलों के बीच जंग जारी है। दक्षिणी अफगानिस्तान के लश्कर गाह अफगान सेना और तालिबान के बीच भीषण युद्ध छिड़ा हुआ है। इस जंग की वजह से शहर के हजारों लोग घरों में फंस चुके हैं, जबकि सैकड़ों स्‍थानीय नागरिक पलायन कर गए हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि तालिबान हमारे ऊपर दया नहीं करेगा और सरकार बमबारी जारी रखेगी। स्थानीय लोगों ने बताया कि यहां के हालात बद से बदतर हो चुके हैं।

लश्कर गाह में कम से कम 40 नागरिक मारे गए

संयुक्त राष्ट्र ने बताया कि पिछले एक दिन में लश्कर गाह में कम से कम 40 नागरिक मारे गए हैं। लश्कर गाह के एक स्‍थानीय नागरिक ने कहा कि सड़कों पर शव पड़े हुए हैं। उसने बताया कि हमें नहीं मालूम है कि ये नागरिकों की लाशें या फिर तालिबान की। उक्‍त नागरिक के अनुसार, कई दर्जन परिवार अपनी जान बचाकर कहीं पलायन कर गए हैं। उसने बताया कि कई परिवार हेलमंद नदी के किनारे डेरा डाले हुए हैं। स्थानीय लोगों ने बताया कि उन्होंने सड़कों पर शव पड़े हुए देखे हैं। तालिबान हेलमंद प्रांत की राजधानी पर अपना प्रभुत्‍व कायम करना चाहते हैं। यह इलाका उनके लिए काफी महत्व का है। बता दें कि हेलमंद अमेरिकी और ब्रिटिश सेना के अभियान का केंद्र था।

अफगान की वायु सेना के हमले में यहां पर 77 तालिबानी आतंकी मारे गए

अफगानिस्‍तान के हेलमंड प्रांत में अफगान सेना और तालिबान के बीच कब्‍जे को लेकर जबरदस्‍त जंग छिड़ी हुई है। बीते दिनों के दौरान अफगानिस्‍तान की वायु सेना के हमले में यहां पर 77 तालिबानी आतंकी मारे गए हैं। इसमें तालिबान के मिलिट्री कमीशन के तीन हेड भी शामिल है। अफगानिस्‍तान के उप रक्षा मंत्री के प्रवक्‍ता फवाद अमान ने कहा है कि लश्‍कारगाह में 77 तालिबानी आतंकी, जिसमें तीन मिलिट्री कमीशन के हेड शामिल है मारे गए हैं। इसके अलावा 22 अन्‍य घायल हुए हैं। आपको बता दें कि लश्‍कारगाह हेलमंद प्रांत की राजधानी है। अमान ने बताया है कि पिछले 24 घंटों के दौरान तालिबान के ऊपर अफगान सेना और वायुसेना ने जबरदस्‍त हमले किए हैं।

 

Edited By: Ramesh Mishra