मैड्रिड, एपी। स्पेन के सुप्रीम कोर्ट ने केटलोनिया को देश से अलग करने की कोशिश से जुड़े मामले में इस क्षेत्र के पूर्व उप राष्ट्रपति ओरियल जनक्वेरस समेत 11 पूर्व नेताओं को सोमवार को 13 साल तक की सजा सुनाई। स्पेन के इस संपन्न पूर्वोत्तर क्षेत्र की आजादी के लिए 2017 में प्रयास किया गया था। इसे 1975 में तानाशाह फ्रांसिस्को फ्रैंको की मौत के बाद लोकतंत्र अपनाने वाले स्पेन के सबसे चर्चित मामलों में गिना जाता है। माना जा रहा है कि शीर्ष अदालत के इस फैसले से केटलोनिया समर्थक फिर भड़क सकते हैं।

सजा पाने वालों में स्पीकर कार्मे फोरकाडेल भी शामिल

अदालत ने केटलन क्षेत्र के पूर्व उप राष्ट्रपति ओरियल जनक्वेरस को देशद्रोह और सरकारी धन के दुरुपयोग के आरोपों में 13 साल जेल की सजा सुनाई। आठ अन्य नेताओं को भी नौ से 13 साल कैद की सजा दी गई। बाकी तीन नेताओं को कम सजा मिली है। अभिभोजकों ने इन लोगों के लिए कड़ी सजा की मांग की थी। सजा पाने वालों में क्षेत्रीय संसद के स्पीकर कार्मे फोरकाडेल भी शामिल हैं। उन्हें साढ़े ग्यारह साल की सजा सुनाई गई। पूर्व कैबिनेट सदस्यों जोकिम फोर्न और जोसेफ रूल को साढ़े दस साल की सजा दी गई।

कराया गया था जनमत संग्रह

साल 2017 में केटलोनिया को स्पेन से अलग करने के लिए गैरकानूनी तरीके से जनमत संग्रह कराया गया था। इस क्षेत्र के लोगों ने अलगाव के पक्ष में मतदान किया था। लेकिन इस प्रयास को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कोई समर्थन नहीं मिला। बाद में स्पेन की सरकार ने क्षेत्रीय सरकार को बर्खास्त कर दिया था।

यह भी पढ़ें: नौवीं कक्षा में पूछा गया गांधीजी ने कैसे की आत्महत्या, शिक्षा अधिकारी ने दिए जांच के आदेश

यह भी पढ़ें: Abhijit Banerjee: जाने कौन हैं भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी और उनकी पत्नी जिन्हें मिला है अर्थशास्त्र में नोबेल

Posted By: Dhyanendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप