सियोल, एजेंसी। उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन की बहन किम यो जोंग ने शुक्रवार को दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति से अपना मुंह बंद रखने के लिए कहा। दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति यून सुक येओल ने दोहराया था कि उनका देश परमाणु निरस्त्रीकरण के बदले उत्तर कोरिया को आर्थिक सहायता मुहैया करा सकता है।

दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्री ने किम की टिप्पणी को अत्यंत निंदनीय और अनुचित करार दिया है।येओल ने गत मई में भी यह प्रस्ताव दिया था। उन्होंने राष्ट्रपति पद संभालने के 100 दिन पूरे होने पर बुधवार को यह प्रस्ताव दोहराया था। सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए के अनुसार, किम यो जोंग ने कहा, 'अपनी छवि बचाए रखने की खातिर मूर्खतापूर्ण बातें करने की जगह येओल के लिए अपना मुंह बंद रखना ज्यादा बेहतर रहेगा। यह सोचना सामान्य और बचकाना है कि वह उत्तर को स्वाभिमान और परमाणु हथियार के लिए आर्थिक सहयोग का झांसा दे सकते हैं।

उधर, उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने राजधानी प्‍योंगयांग में एक समारोह का आयोजन किया, जिसमें उन्‍होंने देश में कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ाई में उम्‍दा प्रदर्शन करने के लिए सैन्‍य चिकित्‍सकों को सराहा और उनका शुक्रिया अदा किया। यहां सरकार द्वारा संचालित मीडिया के हवाले से शुक्रवार को यह जानकारी दी गई। मालूम हो कि पिछले हफ्ते जोंग उन ने कोरोना महामारी के खिलाफ जीत की घोषणा की थी और कोरोना संबंधी लगाए गए प्रतिबंधों में ढील दिए जाने का ऐलान किया था। इसी के साथ कोरियन पीपुल्‍स आर्मी के हजारों सैन्‍य चिकित्‍सकों को भी मुक्‍त कर दिया जिन्‍हें देश में कोरोना की जंग में जीत हासिल करने के लिए फ्रंट लाइन पर तैनात किया गया था।

Edited By: Ramesh Mishra