नई दिल्‍ली (आनलाइन डेस्‍क)। इटली में इस बार सत्‍ता में बदलाव होता साफतौर पर दिखाई दे रहा है। यहां पर रविवार को Chamber of Deputies और Senate of Republic के लिए वोट डाले गए थे। इस बार देश में 64.67 फीसद मतदान हुआ जो इटली के इतिहास में सबसे कम है। वर्ष 2018 में हुई चुनाव में इटली में करीब 75 फीसद मतदान हुआ था। इस बार इटली के चुनाव में मिलान फैशन शो का बड़ा रोल रहा है। इसके अलावा देश के फैशन आइकन और उनके सोशल मीडिया कैंपेंन का भी जोर दिखाई दिया है। 

मिलान फैशन शो का रोल 

इटली के मीडिया की मानें तो विश्‍व प्रसिद्ध मिलान फैशन शो में ये चीज साफतौर पर दिखाई दी। दरअसल, इटली में हाल ही में मिलान फैशन शो में देश की सबसे बड़ी डिजाइनर में से एक Donatella Versace ने न केवल अपने एंप्‍लाए और शो को देखने आए दूसरे लोगों को वोट डालने के लिए प्रोत्‍साहित किया बल्कि उन्‍होंने फार राइट पार्टी के हक में वोटिंग करने के लिए भी लोगों को उकसाया। इस तरह से Donatella Versace ने वोट को फार राइट पार्टी की तरफ मोबिलाइज करने में एक अहम भूमिका निभाई।

फार राइट पार्टी की जीत लगभग तय

आपको बता दें कि इस बार देश में फार राइट पार्टी के सत्‍ता में आने की दावेदारी काफी पक्‍की मानी जा रही है। इस तरह से कहा जा सकता है कि मिलान फैशन शो का हाथ Giorgia Meloni को जिताने में हो सकता है। इटली की मीडिया में ये भी कहा जा रहा है कि फैशन शो के दौरान Versace ने साफतौर पर कहा कि रोम में इस बार फार राइट पार्टी की सरकार बनाने के लिए वोटिंग करनी है। Versace ने अपने इंस्‍टाग्राम पोस्‍ट में भी लोगों से इटली के बेहतर भविष्‍य के लिए वोट करने को कहा था।

कई फैशन ब्रांड ने लोगों को किया वोटिंग के लिए मोटिवेट 

बहरहाल, आपको यहां पर ये भी बता दें कि इटली में हुए चुनाव में वोटिंग के लिए लोगों को मोटिवेट करने का काम केवल Versace ही ने ही नहीं किया बल्कि Peerpaolo Piccioli समेत कई दूसरे विश्‍व प्रसिद्ध ब्रांड्स भी इसमें आगे रहे हैं। इनमें Gucci और Fendi का नाम भी शामिल है। माना जा रहा है कि इस बार की वोटिंग सत्‍ताधारी पार्टी को बाहर रखने के लिए ही की गई है।

कैथोलिक समुदाय की भूमिका 

माना ये भी जा रहा है कि फार राइट पार्टी को जिताने में इटली के कैथोलिक समुदाय का काफी अहम भूमिका रही है। आपको यहां पर ये भी बता दें कि इस चुनाव में सोशल मीडिया का भी काफी अहम रोल रहा है। इटली की फैशन कंपनी Chiara Ferragni ने भी इंस्‍टाग्राम पर अपने करीब 30 लाख फालोवर्स को वोटिंग के लिए मोटिवेट तो किया ही साथ ही LGBTQ के अधिकारों और अर्बोशन के अधिकार का समर्थन किया था।  

पहली बार सबसे कम वोटिंग प्रतिशत 

इटली यूरोपीय संघ का तीसरा सबसे अधिक आबादी वाला देश है। इसके अलावा ये यूरोप की तीसरी बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था भी है। यूरोप की सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था जर्मनी, फ्रांस और फिर इटली है। इस तरह से इस देश की अहमियत भी काफी बड़ी है। एक विकसित देश होने के नाते ऐसा माना जाता है कि यहां के लोग अपने हक को लेकर काफी जागरुक रहते हैं। लेकिन इस बार का वोटिंग प्रतिशत इस मान्‍यता को गलत साबित कर रहा है। पको जानकर हैरानी हो सकती है कि इटली में भी लोगों को वोटिंग के लिए भारत की तरह ही मोटिवेट करना पड़ता है।

(इतालवी मीडिया की खबरों के अनुसार) 

Edited By: Kamal Verma

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट