बर्लिन (रायटर)। कोरोना के खौफ से 19 माह के बाद भी कोई देश बाहर नहीं आ सका है। पूरी दुनिया अब भी न सिर्फ इसकी चपेट में है बल्कि अब भी लगातार इससे बाहर आने का संघर्ष ही कर रही है। दुनियाभर में इसके वायरस के नए वैरिएंट डेल्‍टा, एल्‍फा, बीटा, गामा समेत अन्‍य के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। यूरोप, अमेरिका, अफ्रीका, एशिया सभी जगहों पर इन वैरिएंट का असर साफतौर पर देखा जा रहा है। हाल ही में विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने दुनिया को इसके प्रति आगाह करते हुए कहा है कि ये डेल्‍टा वैरिएंट विश्‍व में कुछ माह के अंदर डोमिनेंट हो सकता है। यदि ऐसा हुा तो हालात काफी खराब हो सकते हैं। इसको देखते हुए जर्मनी की चांसलर एजेंला मर्केल ने लोगों को सावधान किया है।

उन्‍होंने कहा कि देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। उन्‍होंने बेहद स्‍पष्‍ट शब्‍दों में कहा है कि ये लगातार चिंताजनक होते जा रहे हैं। इसके चलते मर्केल ने लोगों से अपील की है कि वो जल्‍द से जल्‍द वैक्‍सीन की खुराक लें। उन्‍होंने अपनी अपील में कहा है कि हम दोबारा सामान्‍य की तरफ आना चाहते हैं। ये तभी हो सकता है जब हम पूरी तरह से वैक्‍सीनेट हो जाएं। पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्‍होंने कहा कि लोगों को चाहिए कि वो अपनी वैक्‍सीन की डोज समय रहते ले लें।

आपको बता दें कि समूचे यूरोप के कई देशों में डेल्‍टा समेत अन्‍य वैरिएंट के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। रायटर के ही आंकड़ों के मुताबिक दुनिया के करीब 93 देशों में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। दुनिया में अब तक कोरोना के 19205000 मामले सामने आ चुके हैं और 4191000 लेागों की मौत अब तक हो चुकी है। जर्मनी में हर रोज करीब 1500 मामले सामने आ रहे हैं। यहां पर अब तक 3749325 मामले हैं ओर 91423 लोगों की मौत भी हो चुकी है।