दुबई, एपी। ईरान में हिजाब विरोधी प्रदर्शन के बीच राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी ने मंगलवार को सरकार के विरुद्ध लोगों के गुस्से को शांत करने की कोशिश करते हुए राष्ट्रीय एकता की अपील की। वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने शांतिपूर्ण आंदोलन चला रहे प्रदर्शनकारियों के विरुद्ध दमनात्मक कार्रवाई की कड़ी निंदा की है। कहा, अमेरिका इसी हफ्ते प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई के दोषियों पर पाबंदिया लगाएगा।

महसा अमीनी की मौत के बाद से जारी है प्रदर्शन

ईरान में हिजाब न पहनने पर पुलिस हिरासत में 13 सितंबर को महसा अमीनी की मौत के बाद से जारी प्रदर्शन कम नहीं हो रहा है, बल्कि अब यह बढ़कर स्कूल और विश्वविद्यालयों तक पहुंच गया है। सोमवार को भी विद्यार्थियों के प्रदर्शन के कई वीडियो प्रसारित हुए।

इस बीच, संसद में मंगलवार को अपने संबोधन में ईरान के राष्ट्रपति ने कहा, माना कि इस्लामी गणराज्य में कुछ कमियां हैं। लेकिन महसा अमीनी की मौत के बाद से शुरू आंदोलन में ईरान के दुश्मनों की साजिश है। आज एकता और राष्ट्रीय अखंडता से देश के दुश्मनों के हौसले को कम करने की आवश्यकता है। इससे पहले ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला खामनेई ने आंदोलन को अमेरिका और इजरायल की साजिश बताया था।

Video: Bomb Threat के बाद Iran की Flight की China में Safe Landing, Agencies कर रही जांच

ईरानियों ने अपनी बहादुरी से पूरे विश्व को किया प्रेरित बाइडन

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि दशकों से ईरानी शासक अपने नागरिकों को स्वतंत्रता के मूल अधिकार से वंचित कर रहे हैं। सरकार धमकी और हिंसा से आने वाली पीढ़ी की आकांक्षाओं का दमन करती रही है। आज अमेरिका ईरानी महिलाओं और उन सभी नागरिकों के साथ खड़ा है, जिन्होंने अपनी बहादुरी से पूरे विश्व को प्रेरित किया है। बाइडन ने कहा कि अमेरिका इंटरनेट को ईरानी लोगों की पहुंच में ला रही है।

ये भी पढ़ें: Putin के Nuclear Attack की चेतावनी को लेकर टेंशन में है दुनिया, परमाणु विश्लेषक क्रेमलिन पर रख रहे नजर

डोनाल्ड ट्रंप ने सीएनएन के खिलाफ दायर किया मानहानि का मुकदमा, चैनल पर लगाया झूठे अभियान में शामिल होने का आरोप

Edited By: Shashank Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट