कुआलालंपुर, आइएएनएस। मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद को उनकी ही राजनीतिक पार्टी ने बर्खास्त कर दिया गया है। महातिर को पार्टी के संविधान का उल्लंघन करने का दोषी पाए जाने के बाद बाहर का रास्‍ता दिखा दिया गया। गुरुवार को महातिर को लिखे पत्र में प्रीबूमि बेरसतु मलेशिया (पीपीबीएम) के कार्यकारी सचिव मुहम्मद सुहैमी याहया ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री की सदस्‍यता, पार्टी के संविधान का उल्लंघन करने के कारण रद की जा रही है।

बता दें कि महातिर को जिस राजनीतिक पार्टी से निकाला गया है, वो उसी के सह-संस्थापक रहे हैं। यूनाइटेड इंडिजिनस पार्टी ऑफ मलेशिया ने गुरुवार को जारी बयान में कहा, महातिर की पार्टी की सदस्यता तत्काल प्रभाव से रद की जाती है। पार्टी चेयरमैन रहे महातिर ने मलेशिया की मोहिउद्दीन यासीन के नेतृत्व वाली वर्तमान सरकार को समर्थन नहीं दिया, जिसकी वजह से उन्हें पार्टी से निष्कासित किया जाता है। उल्‍लेखनीय है कि मलेशिया में मार्च महीने में हुए बड़े राजनीतिक फेरबदल के बाद महातिर की जगह मोहिउद्दीन यासीन प्रधानमंत्री बने थे।

मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर कश्मीर मुद्दे और नागरिकता संशोधन कानून पर भारत की तीखी आलोचना को लेकर चर्चा में आए थे। महातिर मोहम्मद ने प्रधानमंत्री रहते हुए संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण में भारत पर कश्मीर पर बलपूर्वक कब्जा करने का आरोप लगाया था। इसके बाद भारत और मलेशिया के संबंधों में खटास आ गई थी। हालांकि, मलेशिया में सत्ता बदलने के साथ ही भारत के साथ संबंधों में भी सुधार हुआ।

खबरों के मुताबिक, महातिर ने पिछले सप्ताह विपक्ष की पंक्ति में बैठकर प्रधानमंत्री मोहिउद्दीन और पार्टी के नेतृत्व को सार्वजनिक तौर पर खारिज किया था। इसके बाद उनका पार्टी से बाहर जाना तय माना जा रहा था। बता दें कि 95 वर्षीय महातिर फरवरी महीने में इस्तीफा देने से पहले तक दुनिया के सबसे बुजुर्ग प्रधानमंत्री थे। 

Posted By: Tilak Raj

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस