काबुल (एएनआई)। अफगानिस्‍तान के हेलमंड प्रांत में अफगान सेना और तालिबान के बीच कब्‍जे को लेकर जबरदस्‍त जंग छिड़ी हुई है। बीते 24 घंटों के दौरान अफगानिस्‍तान की वायु सेना के हमले में यहां पर 77 तालिबानी आतंकी मारे गए हैं। इसमें तालिबान के मिलिट्री कमीशन के तीन हैड भी शामिल है। अफगानिस्‍तान के उप रक्षा मंत्री के प्रवक्‍ता फवाद अमान ने कहा है कि लश्‍कारगाह में 77 तालिबानी आतंकी, जिसमें तीन मिलिट्री कमीशन के हैड शामिल है मारे गए हैं। इसके अलावा 22 अन्‍य घायल हुए हैं। आपको बता दें कि लश्‍कारगाह हेलमंड प्रांत की राजधानी है। अमान ने बताया है कि पिछले 24 घंटों के दौरान तालिबान के ऊपर अफगान सेना और वायुसेना ने जबरदस्‍त हमले किए हैं।

इससे पहले अफगानिस्‍तान के रक्षा मंत्री ने घोषणा की थी कि लश्‍कारगाह में अमेरिकी वायु सेना ने तालिबान पर बड़े हमले को अंजाम दिया है। इसमें 40 आतंकी मारे गए हैं। आपको बता दें कि पिछले कुछ सप्‍ताह के दौरान तालिबान ने अफगानिस्‍तान के कई जिलों को अपने कब्‍जे में किया है। यहां पर अमेरिकी और नाटो सेनाओं की वापसी की घोषणा के बाद से ही तालिबान ने इलाके पर अपनी पकड़ मजबूत करने के इरादे से हमले तेज कर दिए हैं। इन सेनाओं की वापसी की शुरुआत के बाद से इन हमलों में जबरदस्‍त तेजी देखी गई है।

सीएनएन के मुताबिक तालिबान अफगानिस्‍तान में अब तक करीब 223 जिलों पर कब्‍जा जमा चुका है। इसके अलावा 116 जिलों में उसकी अफगान सेना से कब्‍जे को लेकर लड़ाई चल रही है। सरकार के कब्‍जे में 68 जिले हैं। ,देश के करीब 17-34 जिले ऐसे हैं जिनको तालिबान से जबरदस्‍त खतरा है। आपको बता दें कि तालिबान ये स्‍पष्‍ट कर चुका है कि देश में शांति तभी स्‍थापित होगी जब देश की चुनी गई सरकार यहां से चली जाएगी।

Edited By: Kamal Verma