तेहरान, एजेंसियां: ईरान में पुलिस हिरासत में 22 वर्षीय महिला माहसा अमीनी की मौत के विरोध में राजधानी तेहरान समेत देश के कई इलाकों में प्रदर्शन तेज हो गए हैं। मंगलवार को हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान तीन लोगों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। ईरान की गवर्नर इस्माइल जरेई कौशा ने प्रदर्शन के दौरान तीन लोगों की मौत को लेकर पुष्टि की है।

देश के उत्तर पश्चिमी कुर्दिस्तान प्रांत की गवर्नर कौशा ने कहा कि, जांच में पता चला है कि इन लोगों की गोली मारकर हत्या की गई है। उन्होंने बताया कि विरोध प्रदर्शन में हुई हत्याओं के पीछे सरकार विरोधी तत्वों का हाथ होने की बीत सामने आई है। उन्होंने बताया कि जिन हथियारों का इस्तेमाल कर हत्याओं को अंजाम दिया गया, वो किसी भी स्तर के सरकारी सुरक्षा दलों द्वारा इस्तेमाल नहीं किए जाते हैं।

गवर्नर के मुताबिक, एक व्यक्ति दिवांडारेह में मृत पाया गया है, जबकि दूसरा व्यक्ति एक अस्पताल के पास खड़ी कार में मृत मिला है। मामले में तीसरी मौत को लेकर जांच की जा रही है। प्रदर्शनों में शामिल हो रहे लोगों को आगाह करते हुए गवर्नर ने कहा कि आशंका है कि महसा अमिनी की मौत को इस्तेमाल करते हुए सरकार विरोधी तत्व इस तरह की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।

आपको बता दें, बीते शुक्रवार को कुर्दिस्तान प्रांत की रहने वाली महिला अमीनी अपने परिवार के साथ तेहरान आई थी। हिजाब नहीं पहनने के कारण कठोर ड्रेस कोड लागू कराने वाली मोरलिटी पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। देश में महिलाओं को घर के बाहर सिर पर हिजाब और ढीले कपड़े पहनना अनिवार्य है। हिरासत में लिए जाने के कुछ देर बाद ही थाने में अमीनी की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस ने मौत का कारण हार्ट अटैक बताया, लेकिन परिवार ने पुलिस पर शारीरिक प्रताड़ना देने का आरोप लगाया।

Edited By: Amit Singh