गाजा, एजेंसी। तेल अवीव में लॉन्च किए गए रॉकेट के जवाब में इजरायली सेना ने गाजा में लगभग 100 आतंकी ठिकानों को निशाना बनाया हैं। सेना ने बताया, जेट और हेलीकॉप्टरों की मदद से हमास से जुड़े ठिकानों को निशाना बनाया गया। गाजा पर इजरायली हवाई हमले (Air Strike) ने इजरायल-फिलिस्तीनी संघर्ष में और ज्यादा तनाव की आशंका बढ़ा दी है। 

शुक्रवार तड़के गाजा पट्टी में धमाकों की आवाज सुनी गई और फिलिस्तीनी प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि इजरायली विमानों ने हमास के सुरक्षा चौकियों पर बमबारी की।

बताया गया कि हमास के सुरक्षा बलों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे चार भवनों को निशाना बनाया गया। जहां इस हवाई हमलों में अभी किसी के हताहत होने का कोई खबर सामने नहीं आई हैं। वही एहतियात के तौर पर भवनों को खाली करा दिया गया है।

इजरायली सेना ने कहा कि तेल अवीव क्षेत्र में एन्क्लेव से दो रॉकेट लॉन्चर दागे गए। जिसके बाद हमने गाजा में "आतंकी साइटों" पर यह हमला किया। यह हवाई हमले गाजा शहर से लगभग 25 किमी दूर, दक्षिणी गाजा में हुए।

इजरायल पर हुआ हमला
प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा तेल अवीव में धमाका सुना गया और आयरन डोम इंटरसेप्टर मिसाइलों को आकाश की ओर से उड़ाया गया और विस्फोट किया गया। हालांकि सेना ने कहा कि कोई रॉकेट नहीं गिराया गया। वही इजरायल के सुरक्षा मंत्री, नैफ्टली बेनेट ने तेल अवीव पर हुए हमले में हमास को जिम्मेदार बताया है।

बेनेट ने कहा, "यह हमास को हराने का समय है। इजरायली नागरिकों के बचाव के लिए हमास के एकतरफा काम करने और हमास को कमजोर करने का समय है।"

बता दें कि ऐसे रॉकेट हमले आम तौर पर इस्लामी समूह हमास द्वारा नहीं किए जाते जो इस क्षेत्र को नियंत्रित करता है, जबकि कहा जाता है कि कट्टरपंथी समूह की तरफ से हमले किये जा सकते हैं। गाजा की तरफ से हुए हमले के बाद 2008 से तीन बार युद्ध हुए हैं जिसके बाद इजराइल ने हमास पर कब्ज़ा कर लिया।

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप