दुबई, रायटर। ईरान में हिजाब न पहनने पर कुर्दिश युवती महसा अमीनी की पुलिस हिरासत में मौत के बाद से जारी प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा। देशभर में प्रदर्शनकारियों के उग्र विरोध से ईरान सरकार दबाव में आ गई है। इस बीच, ईरानी रिवोल्युशनरी गार्ड ने बुधवार को उत्तरी इराक में कुर्दों को निशाना बनाकर फिर ड्रोन हमले किए हैं। इसमें कम से कम नौ की मौत हो गई और 28 लोग घायल हैं। ये हमले ईरान में चल रहे विरोध प्रदर्शनों की प्रतिक्रिया माने जा रहे हैं।

कुर्दों के 10 ठिकानों पर हमले

ईरानी पैरामिलिट्री रिवोल्युशनरी गार्ड ने इससे पहले शनिवार और सोमवार को भी कुर्दिश इलाकों में हमले किए थे। रिवोल्युशनरी गार्ड ने सुलेमानिया के नजदीक कुर्दों के 10 ठिकानों पर हमले किए हैं।

कोया को लक्ष्य करके हमला

वहीं, ईरान की सरकारी इरना न्यूज एजेंसी का कहना है कि रिवोल्युशनरी गार्ड ने उत्तरी इराक में अलगाववादी ग्रुप को निशाना बनाते हुए मिसाइल और सुसाइड ड्रोन से हमले किए। एपी न्यूज ने डेमोक्रेटिक पार्टी आफ इरानियन कुर्दिस्तान के सदस्य सोरन नूरी के हवाले से बताया कि बुधवार को इरबिल से 60 किलोमीटर दूर कोया को लक्ष्य करके हमला किया गया।

इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित वीडियो बढ़ा रहे आक्रोश

ईरान ने प्रदर्शनकारियों के दबाव को देखते हुए बुधवार को तेहरान के मुख्य चौराहों पर दंगा विरोधी पुलिस तैनात कर दिए हैं। वही, आंदोलन के दौरान पुलिस के सामने बाल खोलकर निडरता से खड़ी ईरानी महिला हदीस नजाफी का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर खूब प्रसारित हो रहा है। पुलिस ने इस युवती को गोलियों से भून दिया था।

तरह तरह से जता रहे विरोध

इसी तरह, प्रदर्शनकारी तरह-तरह से विरोध जता रहे हैं। इस्लामी धार्मिक स्थलों के लिए मशहूर ईरानी शहर मशहद में एक युवती कार के ऊपर चढ़ जाती है। वह अपना हेडस्कार्फ उतारने के बाद नारे लगाने लगती है, 'तानाशाह की मौत', इसमें आसपास के प्रदर्शनकारी शामिल हो जाते हैं और समर्थन में कारों के हार्न बजाने लगते हैं।

प्रदर्शनकारियों पर अनावश्यक सख्ती से परहेज करे ईरान

गुटेरस एपी न्यूज के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने बुधवार को कहा कि ईरान सरकार प्रदर्शनकारियों पर अनावश्यक सख्ती से परहेज करे। गुटेरेस ने एक प्रवक्ता के माध्यम से कहा कि अधिकारियों को 22 वर्षीय महसा अमीनी की मौत की निष्पक्ष जांच करनी चाहिए, जिससे ईरान के प्रांतों और तेहरान की राजधानी में अशांति फैल गई है।

मौतों पर जताई चिंता

एंटोनियो गुटेरस ने कहा, हम सब हम विरोध प्रदर्शनों से संबंधित महिलाओं और बच्चों सहित बढ़ती मौत की खबरों से चिंतित हैं। उल्लेखनीय है कि 31 राज्यों व 80 शहरों में फैले प्रदर्शन के दौरान अब तक 41 लोगों की मौत हो चुकी है।  

यह भी पढ़ें- हिजाब पर ईरान सरकार अड़ी 

यह भी पढ़ें- अमेरिका का ईरानी सरकार पर एक्‍शन

Edited By: Krishna Bihari Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट