ताइपे/बीजिंग (एजेंसी)। अमेरिकी प्रतिनिध सभा की स्‍पीकर नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे से भड़के तनाव के बीच चीन लगातार ताइवान के चारों तरफ अपनी लाइव फायर ड्रिल को अंजाम दे रहा है। इस बीच ताइवान की प्रीमियर Su Tseng-chang का कहना है चीन मिलिट्री एक्‍शन का इस्‍तेमाल कर उनके देश की शांति को खराब कर रहा है। नैंसी के बाद अब सू ने भी चीन पर ताइवान के खिलाफ साइक्‍लोज‍िकल वारफेयर का इस्‍तेमाल करने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि चीन के करीब 66 वार शिप ताइवान स्‍ट्रेट में ड्रिल को अंजाम देने में लगे हैं।

वहीं चीन रक्षा मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि उनका एक जंगी जहाज ताइवान के समुद्री तट से महज 12 किमी दूर तक गया है। बता दें कि ताइवान पहले ही चीन पर ये आरोप भी लगा चुका है कि उसके जहाजों ने median line से आगे बढ़कर दोनों देशों के बीच हुए समझौते का उल्‍लंघन किया है। वहीं चीन की तरफ से कहा गया है कि वो कोई मैडेनलाइन को नहीं मानता है। ताइवान ने चीन से अपने यहां पर साइबर अटैक न करने की भी अपील की है।

ताइवान का कहना हैकि वो ऐसा करके शत्रुता और सैन्‍य संघर्ष को भड़का रहा है। इस बीच बांग्‍लादेश दौरे पर आए चीन के विदेश मेंत्री वांग यी ने कहा है कि ताइवान उनका क्षेत्र है न कि अमेरिका का। नैंसी के दौरे ने तनाव को भड़काने का काम किया है। यी ने कहा है कि चीन के विमान और ड्रोन लगातार ताइवान के चारों तरफ गोलाबारी कर रहे हैं।

रायटर्स ने बताया कि है कि चीन के करीब दस वार शिप ताइवान स्‍ट्रेट में चीन के करीब मौजूद हैं। वहीं कई दूसरे युद्धपोत median line के करीब हैं। ये लाइन ताइवान को चीन को एक दूसरे से अलग करती है। मौजूदा हालातों को देखते हुए ताइवान ने कहा है कि वो चीन की किसी कार्रवाई से डरने वाला नहीं है। बता दें कि चीन ताइवान को अपना हिस्‍सा बताता है वहीं ताइवान खुद को एक आजाद राष्‍ट्र बताता है।

नैंसी के ताइवान दौरे के बाद चीन ने इसके चारों तरफ लाइव फायर ड्रिल कीशुरुआत की थी। ये ड्रिल 7 अगस्‍त को खत्‍म होनी थी। ताइवान के प्रीमियर का कहना है कि उसके फाइटर जेट्स ने करीब 20 लड़ाकू विमानों को चेतावनी देकर वहां से भगा दिया है। इनमें से 14 median line क्रास कर गए थे। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कुछ तस्‍वीरें जारी की हैं जिसमें ताइवान के मछुआरों को चीन के युद्धपोत के पास मछली पकड़ते देखा जा सकता है।

एक बयान में कहा चीन के 14 युद्धपोत ताइवान स्‍ट्रेट में अपनी गतिविधियों को जारी रखे हुए हैं। ताइवान ने भी अपने समुद्री तट पर एंटी शिप मिसाइलों को लगा रखा है। वहीं जमीन से हवा में मार करने वाली Patriot मिसाइलें भी तैनात हैं। चीन बार-बार ताइवान को उसका अंदरुणी मामला बता रहा है। चीन ने ताइवान की सेना को आगाह किया है कि वो उसके नियंत्रण में आती है। हालांकि ताइवान ने चीन के इन दावों से इनकार किया हे।

Edited By: Kamal Verma