हांगकांग, एजेंसी। हांगकांग में चीन के राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून के खिलाफ आवाज तेज होने लगी है। प्रदर्शनकारी किसी बड़े प्रदर्शन के फ‍िराक में हैं। हालांकि, पुलिस की चप्‍पे-चप्‍पे पर नजर है। राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून को लेकर उपजे आक्रोश को लेकर हांगकांग पुलिस पूरी तरह से सतर्क है। यही वजह है कि लोगों को एक जगह एकत्र होने की इजाजत नहीं है। लोगों को स्‍पष्‍ट आदेश है कि वह एक जगह एकत्र नहीं होंगे। यह सब ऐसे समय हो रहा है जब चीन राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून का मसौदा तैयार कर चुका है और बीजिंग इसे जल्‍द से जल्‍द लागू कराने के मूड में है। हालांकि, चीन के इस कानून का अमेरिका समेत यूरोपीय देशों में जबरदस्‍त विरोध हो रहा है।

चीन ने विवादास्पद राष्ट्रीय सुरक्षा बिल की समीक्षा शुरू की

हालांकि, तमाम विरोध के बावजूद चीन की विधायिका ने रविवार को हांगकांग के लिए विवादास्पद राष्ट्रीय सुरक्षा बिल की समीक्षा शुरू की है। इस कानून के बारे में दुनियाभर के आलोचकों का मानना है कि इससे अर्धस्वायत्त क्षेत्र में मानवाधिकार की स्थिति पर गंभीर असर पड़ेगा। चीन की सरकारी शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने खबर दी है कि नेशनल पीपुल्स कांग्रेस ने तीन दिन के सत्र के पहले दिन इस विधेयक पर चर्चा शुरू की थी। चीन का कहना है कि वह इसे लेकर कानून बनाने पर आमादा है। मंगलवार तक इससे संबंधित विधेयक पारित हो जाने की उम्मीद है।

गैरकानूनी तरीके से एकत्र हुए 53 लोगों को गिरफ्तार किया 

हांगकांग पुलिस ने मोंग कोक इलाके में गैरकानूनी तरीके से एकत्र हुए 53 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार किए गए लोगों में 41 पुरुष एवं 12 महिलाएं शामिल हैं। पुलिस का कहना है कि रविवार दोपहर कुछ लोगों ने जॉर्डन से मोंग कोक तक नाथन रोड पर विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस का आरोप है कि प्रदर्शन‍कारियों ने सड़क को अवरुद्ध करके नारेबाजी की और कानून का उल्‍लंघन किया। हांगकांग में चीन के राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून के खिलाफ जबरदस्‍त आक्रोश है। इसको लेकर प्रदर्शनकारी जगह-जगह प्रदर्शन कर रहे हैं। हांगकांग पुलिस  भी चप्‍पे-चप्‍पे पर नजर गड़ाए बैठी है।