वाशिंगटन, एजेंसियां। अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव की मतणना का अंति‍म दौर में है। अमेरिकी राज्‍य में मिशिगन में जो बाइडन की जीत हुई थी। उसके बाद मतगणना को लेकर डोनाल्‍ड ट्रंप की टीम ने मुकदमा कर दिया था। अब राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के अभियान का कहना है कि वे मिशिगन में मुकदमा वापस ले रहे हैं।  

ट्रंप ने मिशिगन के नेताओं को व्हाइट हाउस में बुलाया राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार को मिशिगन के रिपब्लिकन विधायक नेताओं को डेमोक्रेट जो बाइडन की जीत के प्रमाण पत्र को पलट देने के लिए एक लंबे समय के पुरानी पार्टी को धक्का देने के के बीच बैठक के लिए व्हाइट हाउस में बुलाया। इस मामले से परिचित दो लोगों ने द एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि ट्रम्प ने सीनेट के मेजरिटी लीडर माइक शिर्की और हाउस स्पीकर ली चैटफील्ड को आमंत्रित किया था। नेताओं की योजनाओं के बारे में राज्य के एक अधिकारी के अनुसार, वे जाने के लिए तैयार हो गए।

दोनों अधिकारियों ने नाम न छापने की शर्त पर बात की क्योंकि वे निजी बातचीत के दौरान चर्चा कर रहे थे। यह तुरंत स्पष्ट नहीं हो सका कि बैठक किस बारे में होगी। न तो शिर्के और न ही चैटफील्ड ने इस बारे में टिप्पणी की। यदि राज्य के कैनवस के बोर्ड को यह समझाने में सफल हो जाते हैं कि राज्य के बिडेन की 153,000 मतों की जीत को प्रमाणित नहीं करने के लिए विधानमंडल को चुनिंदा मतदाताओं को बुलाया जाएगा। शिर्की और चैटफ़ील्ड दोनों ने संकेत दिया है कि वे बाइडन की जीत को पलटने की कोशिश नहीं करेंगे।

शिरकी के प्रवक्ता ने पिछले सप्ताह कहा कि मिशिगन के कानून में विधानमंडल के लिए सीधे निर्वाचकों का चयन करने या किसी अन्य व्यक्ति को वोट देने के अलावा किसी अन्य व्यक्ति को वोट देने का प्रावधान शामिल नहीं है। गुरुवार को भी राज्य के अधिकारियों ने कहा कि मिशिगन की सबसे बड़ी काउंटी में दो रिपब्लिकन के चुनाव परिणाम के अपने प्रमाणीकरण को रद्द नहीं कर सकती है, जिन्होंने जो बिडेन के स्थानीय तौर एकतरफा तौर पर मंजूरी दी थी। वे वोटों को देने से इनकार करने के अपने प्रारंभिक रुख पर वापस लौटना चाहते थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस