वाशिंगटन, आइएएनएस। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( Donald Trump) फिर से कोरोना वायरस को लेकर नियमित ब्रीफिंग देना शुरू करेंगे। हिल न्यूज की वेबसाइट के अनुसार, ओवल ऑफिस में सोमवार को उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि मंगलवार शाम 5 बजे वे ब्रीफिंग देंगे। अप्रैल में ब्रीफिंग के दौरान उन्होंने एक विवादित बयान दे दिया था जिसके बाद से यह बंद थी। दरअसल, उन्होंने कहा था कि संक्रमण से बचने के लिए शरीर में लाइट या फिर कीटाणुनाशक को इंजेक्शन से डालने से शायद बचाव हो सके।

राष्ट्रपति ने कहा, 'वैक्सीन, दवाईया और इलाज आदि के बारे में जानने का ब्रीफिंग बेहतर तरीका है ये जानने का कि वैक्सीन और दवाईयों के क्षेत्र में हम कहां पहुंचे। इसलिए इसकी शुरुआत मंगलवार शाम 5 बजे से करूंगा।' महामारी के लिए ट्रंप प्रशासन द्वारा अपनाए गए विभिन्न गतिविधियों के बारे में राष्ट्रपति ने मार्च और अप्रैल में व्हाइट हाउस से हर रोज ब्रीफिंग दिया। अप्रैल के अंत में इस ब्रीफिंग की प्रक्रिया में रुकावट पैदा हुई जब ट्रंप की व्यापक तौर पर आलोचना की गई। दरअसल राष्ट्रपति ने वैज्ञानिकों को इस बात के लिए अध्ययन की सलाह दी कि कोविड-19 के इलाज के लिए शरीर में लाइट या कीटाणुनाशक को इंजेक्शन के जरिए देकर इलाज के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है या नहीं।

राष्ट्रपति ने कहा था कि इंजेक्शन के जरिए शरीर में अल्ट्रा वॉयलेट रे और सैनिटाइजर की डोज डाल कर देखें शायद इससे संक्रमण खत्म हो सके। राष्ट्रपति ने कहा कि जैसे वायरस से बचाव के लिए डॉक्टरों द्वारा सलाह दिया जा रहा है कि धूप में बैठें। अप्रैल के अंत में व्हाइट हाउस की कोरोना वायरस टास्क फोर्स कोऑर्डिनेटर डॉक्टर डेबोराह बिर्क्स की मौजूदगी में ट्रंप ने यह बयान दिया था। राष्ट्रपति ट्रंप ने डिसइंफेक्टेंट को शरीर के अंदर डालने की बात कही ताकि वायरस एक मिनट में खत्म हो सके।

Edited By: Monika Minal