वाशिंगटन, एजेंसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका में टाप सीईओ के साथ हुई मुलाकात और उनके भारत में निवेश की रुचि को देश के हित में बताया। प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट का कहा कि यह भारत में सुधार की दिशा के लिए सराहनीय है। भारत और अमेरिका के बीच करीबी आर्थिक संबंध से हमारे देश की जनता को लाभ होगा। अमेरिकी दौरे के पहले दिन गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका की बड़ी कंपनियों के सीईओ से वाशिंगटन के होटल विलार्ड इंटरकान्टिनेंटल में बैठक की।

ब्लैकस्टोन के चेयरमैन सीईओ, स्टीफन ए श्वार्जमैन ने मोदी सरकार को विदेशी निवेशकों के लिए अनुकूल बताया। उन्होंने कहा, 'यह(मोदी सरकार) विदेशी निवेशकों के लिए एक बहुत ही अनुकूल सरकार है। जो रोजगार पैदा करने के लिए भारत में पूंजी लगाना चाहते हैं, उनके सहयोग के लिए भारत सरकार को उच्च ग्रेड मिलना चाहिए।'

क्वालकाम के सीईओ क्रिस्टिआनो एमोन के साथ मुलाकात को प्रधानमंत्री मोदी ने फलदायी करार दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'उन्होंने 5जी में भारत की प्रगति और कनेक्टिविटी बढ़ाने में पीएम-वानी जैसे प्रयासों में रुचि दिखाई।' प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि फ‌र्स्ट सोलर के सीईओ मार्क विडमार ने भारत में अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में अवसरों पर बात की और सोलर पैनल बनाने वाली इस कंपनी को देश में निवेश के लिए आमंत्रित किया। वहीं एडोब के सीईओ शांतनु नारायण के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआइ) के साथ स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे सेक्टरों में कंपनी की निवेश योजनाओं पर चर्चा की।

जनरल एटोमिक्स के सीईओ विवेक लाल से बातचीत में प्रधानमंत्री ने भारत के रक्षा तकनीक क्षेत्र को मजबूत बनाने पर चर्चा की। इसमें ड्रोन तकनीक में प्रगति और प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव स्कीम शामिल हैं। ब्लैकस्टोन ग्रुप के सीईओ स्टीफन स्वार्जमैन के साथ मोदी ने भारत में निवेश की शानदार संभावनाओं पर बात की। इसमें नेशनल इन्फ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन एंड नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन शामिल है।

Edited By: Monika Minal