न्यूयॉर्क, आइएएनएस। आजकल हम हमारे आसपास होने वाली हर छोटी-बड़ी गतिविधियों पर मीम्स बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट कर देते हैं। कई बार ये इतने मजाकिया होते हैं कि वायरल हो जाते हैं। इसकी मदद से लोग कभी नेताओं पर चुटकी लेते हैं तो कभी किसी अभिनेता या सेलिब्रिटी पर।                                

शोधकर्ताओं ने विकसीत किया खास तरीका

सामान्य लोग (जो आंखों से देखने के बाद उन्हें आसानी से समझ सकते है) तो इनका जमकर मजा लेते हैं और सोशल मीडिया पर इन्हें खूब साझा करते हैं, लेकिन दृष्टिबाधित लोगों को इन्हें समझने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस समस्या से पार पाने के लिए शोधकर्ताओं ने एक ऐसा तरीका विकसित किया है, जिसकी मदद से अब दृष्टिबाधित लोग भी मीम्स का मजा ले पाएंगे।                                                           

जानें क्या है नया तरीका

नई विधि में ऐसी सुविधा है कि यह स्वत: ही मीम्स को समझ कर उसका सटीक वर्णन कर सकती है। अमेरिकी शोधकर्ताओं का यह अध्ययन पिट्सबर्ग में आयोजित एसीसीईएसएस कांफ्रेंस में प्रस्तुत किया गया है। शोधकर्ताओं ने कहा, ‘एक स्क्रीन रीडर सॉफ्टवेयर के जरिये दृष्टिबाधित लोग भी अब आम लोगों की तरह सोशल मीडिया का उपयोग कर पाएंगे।                  

नए तरीके से मीम्स को समझना हुआ आसान

अमेरिका की कार्नेगी मेलॉन यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता कोल ग्लेन ने कहा, ‘मीम्स ऐसी छवियां और वीडियो होते हैं, जिनके वास्तविक चित्रों के साथ थोड़ा बहुत बदलाव कर जारी किया जाता है। कम समय में ये बेहद महत्वपूर्ण संदेश दे जाते हैं। लेकिन यदि आप दृष्टिबाधित हैं तो इन संदेशों के छिपे हुए अर्थ को समझ नहीं पाते, लेकिन अब नई विधि से ऐसे लोगों को मीम्स को समझना आसान हो जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021