Move to Jagran APP

India-US Relations: भारत और अमेरिका एक-दूसरे को बेहतर साझेदार के रूप में देख रहे: राजदूत तरनजीत सिंह संधू

संधू ने कहा कि आइसीईटी एक ऐतिहासिक कदम है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2014 में अमेरिका दौरे के बाद दोनों देशों के संबंध और प्रगाढ़ हुए हैं। भारत और अमेरिका के रिश्ते में तकनीक और स्टार्टअप संस्कृति बेहद अहम है।

By AgencyEdited By: Shashank MishraPublished: Sat, 04 Feb 2023 09:36 PM (IST)Updated: Sat, 04 Feb 2023 09:36 PM (IST)
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2014 में अमेरिका दौरे के बाद दोनों देशों के संबंध और प्रगाढ़ हुए हैं: संधू

वाशिंगटन, एएनआइ। भारत और अमेरिका एक-दूसरे को विश्वसनीय साझेदार के रूप में देख रहे हैं। इसकी झलक क्रिटिकल एंड इमर्जिंग टेक्नालाजी (आइसीईटी) को लेकर हुई बैठक के दौरान देखने को मिली। यह बात अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने कही। संधू ने कहा कि आइसीईटी एक ऐतिहासिक कदम है। यह दोनों देशों को तकनीक के क्षेत्र में आगे बढ़ने का मौका प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2014 में अमेरिका दौरे के बाद दोनों देशों के संबंध और प्रगाढ़ हुए हैं।

loksabha election banner

जो बाइडन के राष्ट्रपति पद ग्रहण करने के बाद दोनों देशों के बीच आपसी संबंध और बातचीत का दायरा बढ़ा है। भारत और अमेरिका के रिश्ते में तकनीक और स्टार्टअप संस्कृति बेहद अहम है। आइसीईटी पर हुई बैठक के बाद यह सभी और पास आएंगे। यह खास मौका है, जब सरकारी विभागों के साथ ही शिक्षा और वैज्ञानिक क्षेत्र से जुड़े दोनों देशों देशों के लोग एक दूसरे के इतने करीब होंगे।

ये भी पढ़ें- बजट में घोषित एग्री स्टार्टअप फंड के बाद जानिए कहां हैं संभावनाएं, सफलता के लिए किन बातों का रखना पड़ेगा ध्यान

ये भी पढ़ें- Fact Check Story: आलिया भट्ट और उनकी बेटी के नाम से वायरल हो रही तस्वीर एडिटेड है


Jagran.com अब whatsapp चैनल पर भी उपलब्ध है। आज ही फॉलो करें और पाएं महत्वपूर्ण खबरेंWhatsApp चैनल से जुड़ें
This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.