वाशिंगटन, एजेंसियां। दुनिया के तमाम मुल्‍कों में कोरोना का डेल्‍टा वैरिएंट कहर बरपा रहा है। दुनिया शक्तिशाली और साधन संपन्न देश इसकी मार झेल रहे हैं। मौजूदा वक्‍त में अमेरिका, ब्राजील, रूस के अस्पतालों में रोज सैकड़ों लोगों की मौत हो रही है। इस समय अमेरिका का फ्लोरिडा कोरोना का हाटस्‍पाट बना हुआ है। समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुता‍बिक मध्‍य फ्लोरिडा में कोरोना से बड़ी संख्‍या में लोगों की मौतें हो रही हैं जिसकी वजह से अस्पताल के मुर्दाघर और अंतिम संस्कार स्‍थलों की क्षमता नाकाफी साबित हो रही है। 

फ्लोरिडा में बिगड़े हालात 

अमेरिका के अस्पतालों में कोरोना मरीजों की संख्या रिकार्ड स्तर पर पहुंच गई है। मौजूदा वक्‍त में अस्पतालों में कोरोना मरीजों की संख्या एक लाख से ज्‍यादा हो गई है। बीते जनवरी महीने के बाद यह सर्वाधिक संख्या बताई जा रही है। वाशिंगटन पोस्ट अखबार की रिपोर्ट के हवाले से समाचार एजेंसी आइएएनएस ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अमेरिका में सबसे ज्यादा कोरोना मरीज फ्लोरिडा के अस्पतालों में भर्ती हैं। इस प्रांत में 17 हजार से ज्यादा मरीज भर्ती हैं। इसके बाद टेक्सास में 14 हजार से अधिक पीडि़त अस्पतालों में हैं।

बच्‍चों पर कोरोना की तगड़ी मार 

यही नहीं अमेरिका के अस्पतालों में कोरोना संक्रमित बच्चों की संख्या भी रिकार्ड स्तर पर पहुंच गई है।आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक अगस्त 2020 के बाद पहली बार 2,100 से अधिक बच्चे विभिन्‍न अस्पतालों में भर्ती कराए गए हैं। अधिकारियों का कहना है कि अमेरिका में कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी के पीछे डेल्टा वैरिएंट जिम्‍मेदार है। आलम यह है कि अमेरिका में रोजाना औसतन एक लाख से ज्यादा नए मामले पाए जा रहे हैं। यही नहीं 1,100 संक्रमितों की मौत हो रही है। यदि अब तक आंकड़ों पर नजर डालें तो अमेरिका में महामारी से छह लाख 33 हजार से अधिक लोगों की मौत हुई है। 

शवों से भरे अस्‍पतालों के मुर्दाघर 

सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक अकेले फ्लोरिडा में महामारी से हर रोज 279 लोगों की मौत हो रही है। प्रतिदिन 21 हजार केस सामने आ रहे हैं। अस्पताल समूह के प्रवक्ता जेफ ग्रेंजर ने एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि मध्य फ्लोरिडा में एडवेंटहेल्थ के अस्पताल लोगों की बड़ी संख्‍या में हो रही मौतों के चलते अतिरिक्त संसाधनों के लिए जद्दोजहद कर रहे हैं। मध्‍य फ्लोरिडा के दस प्रमुख अस्पतालों के मुर्दाघर पूरी तरह शवों से भर चुके हैं। रिपोर्ट के मुताबिक वहां शवों को रखने के लिए रेफ्रिजरेटेड ट्रकों का इस्‍तेमाल किया जा रहा है।

ब्रिटेन में 133 लोगों की मौत

ब्रिटेन में भी संक्रमण के मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। समाचार एजेंसी रायटर की रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटेन में बीते 24 घंटे में 32,406 नए मामले सामने आए हैं जबकि 133 लोगों की मौत दर्ज की गई है। समाचार एजेंसी एपी की रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना के खतरे को देखते हुए ब्रिटेन में सितंबर से 12 से 15 साल की उम्र के बच्चों के टीकाकरण की तैयारी की जा रही है। ब्रिटिश सरकार का कहना है कि वह 12-15 साल की उम्र के बच्चों को कोविड-19 रोधी टीका लगाने की तैयारी कर रही है। हालांकि अभी तक ब्रिटेन के वैक्सीन सलाहकारों ने इसका अनुमोदन नहीं किया है।

रूस में 799 और ब्राजील में 761 लोगों की मौत

रूस और ब्राजील भी कोरोना के डेल्‍टा वैरिएंट की मार झेल रहे हैं। हालांकि अब मामलों में कमी आई है लेकिन अभी भी बड़ी संख्‍या में लोगों की मौतें हो रही हैं। समाचार एजेंसी रायटर की रिपोर्ट के मुताबिक रूस में बीते 24 घंटे में 799 लोगों की मौत हुई है जबकि 19,492 नए मामले सामने आए हैं। वहीं ब्राजील में बीते 24 घंटे में 761 लोगों की मौत हुई है जबकि 27,345 नए मामले सामने आए हैं। मौजूदा वक्‍त में ब्राजील कोरोना से होने वाली मौतों के मामले में दुनिया में दूसरे स्‍थान पर है।

मैक्सिकों में 863 की मौत, चीन में 21 मामले

समाचार एजेंसी रायटर की रिपोर्ट के मुताबिक मैक्सिको में एक दिन में 19,556 नए मामले सामने आए हैं जबकि महामारी से 863 लोगों की मौत हुई है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक मैक्सिको में कोरोना से मरने वालों की संख्‍या 257,150 हो गई है जबकि अब तक संक्रमण के 3,311,317 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं चीन में कोरोना के 21 नए मामले सामने आए हैं। चीन में एक दिन पहले 32 मामले सामने आए थे। चीन स्वास्थ्य प्राधिकरण की ओर से जारी बयान के मुताबिक एक मामला दक्षिणी यूनान प्रांत में स्थानीय संक्रमण का सामने आया है।

Edited By: Krishna Bihari Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट