मालदा, संवाद सूत्र। शिक्षक भर्ती घोटाले, मवेशी तस्करी, कोयला तस्करी में तृणमूल कांग्रेस पार्टी के दादा (बड़े भाई) अभी जेल की हवा खा रहे हैंं,  वैसे ही विधायक अब्दुर रहीम बख्शी भी जेल जाएंगे। बहुत जल्द उनका भी नंबर आने वाला है। यह कहना है भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष व सांसद दिलीप घोष का। वे शुक्रवार को मालदा में दुर्गापूजा पंडाल के उद्घाटन को लेकर मालदा आए हुए थे। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों एक जनसभा में विधायक अब्दुर रहीम बख्शी ने आगामी पंचायत चुनाव में विरोधी शून्य करने की बात कहीं थी। भाजपा पर कटाक्ष किया था। इसके जवाब में दिलीप घोष ने उक्त बातें कहीं।

उत्‍तर बंगाल की अवहेलना का आरोप 

उन्होंने मालदा टाउन स्टेशन पर पत्रकारों से कहा कि दुर्गापूजा उदघाटन में उत्तर बंगाल की अवहेलना और सिर्फ दक्षिण बंगाल के बड़े-बड़े पंडाल में बड़े-बड़े नेताओं के जमावड़े पर कटाक्ष करते हुए कहा कि बड़े-बड़े नेता बड़े-बड़े शहरों के पूजा पंडाल के उद्घाटन में इन दिनों व्यस्त हैं। मैं छोटे से गांव का हूं। इसलिए छोटे गांव का पूजा देखने के लिए आया हूं। शिक्षक भर्ती घोटाले पर दिलीप घोष ने कहा कि इस पर उच्च न्यायालय के न्यायाधीश ने टिप्पणी करते हुए कहा कि यह बस हिमालय का सिरा भर है। हजारों-हजारों करोड़ का यह घोटाला है। सब कुछ धीरे-धीरे सामने आएगा। सीबीआई और ईडी इसपर कार्य कर रही हैं। चोर जल्दी पकड़ में आएगा और जेल में भेजा जाएगा।

नौकरियां बेची गईं

दिलीप घोष ने कहा कि हम चाहते है कि जिसने वाकई एसएससी की परीक्षा पास की है, उसे ही नौकरी मिले। पैसा लेकर नौकरी नहीं दिया जाएगा। मेरिट के हिसाब से नौकरी मिलनी चाहिए। बंगाल की राजनीति को शुद्धिकरण की जरूरत है। भ्रष्टाचार की कीचड़ में वह डूबी है। जिन्हें घूस के बदले नौकरी मिली है। उसे बर्खास्त कर देना चाहिए और जिन्होंने नौकरी के लिए पैसे दिए और नौकरी नहीं मिली, उनके पैसे ब्याज के साथ वापस देना चाहिए। मुर्शिदाबाद में युवक की आत्महत्या के बारे में कहा कि एसएससी ओर टेट में हजारों युवकों के साथ धोखा हुआ है। पैसों का खेला हुआ है। नौकरियों बेची गयी है। युवकों ने अपना सबकुछ बेचकर नौकरी खरीदी है। किसी को मिली, किसी को नहीं मिली। अब सरकार नौकरी नहीं दे सकती, तो पैसे वापस करवा दें। ताकि इस तरह की घटनाएं न हो।

कहा, पहले कभी ऐसा रुपयों का पहाड़ नहीं देखा

पूजा के दौरान कुछ बेरोजगार युवक-युवती नौकरी के लिए धरने पर बैठे हैं। कुछ पेंशन के लिए आंदोलन कर रहे हैं। इस राज्य में कोई सुखी नहीं है। दो साल कोरोना के कारण हम सभी डर के मारे घर में दुबके रहे। इस बार मैं माँ से प्रार्थना करता हूँ। भक्त पूरे उत्साह के साथ दुर्गापूजा मनाएं। मां सबको आशीर्वाद दें। सबके कष्ट हरे। पापियों का नाश करें। भ्रष्टाचारियों को नरक भेजें। हमने कभी इसतरह का भ्रष्टाचार नहीं देखा। टीवी स्क्रीन पर करोड़ों रुपये का पहाड़ देखा।

मां के हाथों में तृणमूल का झंडा

बता दें कि सांसद एवं केंद्रीय भाजपा के उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने शुक्रवार दोपहर भगत सिंह संघ, भवानीपुर, कालियाचक थाना आदि इलाके के पूजा पंडालों का उद्घाटन किया। मां दुर्गा के हाथ में तृणमूल के झंडे का जिक्र करते हुए दिलीप घोष ने कहा कि तृणमूल पार्टी सब कुछ अपने हाथ में लेने की कोशिश कर रही है। वे परेशान हैं। उन्हें लगता है कि उन्होंने 60,000 रुपये देकर दुर्गा पूजा खरीदी हो। मुर्शिदाबाद के बहरमपुर में छात्र का अपहरण कर हत्या कर दी गयी। इसके लिए फिरौती भी मांगी गयी थी। बंगाल में अब यही सब हो रहा है। छोटे बच्चों को उठाकर मार डाला जा रहा है। दुष्‍कर्म और मर्डर की खबरों से अखबार के पन्ने भरे पड़े हैं।  तपन दत्त हत्याकांड में सीबीआइ जांच के आदेश को बरकरार रखा गया।

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट