राज्य ब्यूरो, कोलकाताः वीर सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पर कोलकाता पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचाकन एल्गिन रोड स्थित नेताजी के पैतृक आवास पर पहुंचे जहां उनके इस्तेमाल किए हुए हर सामान को देखा और गहनता से जानकारी ली। जब पीएम मोदी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस का बिस्तर देखा तो वह भावुक हो उठे। पीएम मोदी ने वहां माथा टेकते हुए हाथ जोड़े और बोस को नमन किया। 

उनके साथ नेताजी के परपोते व नेताजी रिसर्च ब्यूरो के प्रमुख सुगतो बोस थे जो उन्हें हर चीजों के बारे में जानकारी दी। पहले पीएम का नेताजी भवन जाने का कार्यक्रम तय नहीं था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेताजी भवन में नेताजी सुभाष चंद्र बोस से जुड़ी तस्वीरों को देखा। पीएम मोदी ने उनकी तस्वीरों को देखकर हाथ जोड़कर उन्हें नमन किया। इस दौरान पीएम मोदी के साथ पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ भी मौजूद रहे। नेताजी भवन में आज भी 1937 मॉडल की वह खूबसूरत जर्मन वांडरर सीडान कार खड़ी है जो उनके गुप्त तरीके से जर्मनी पहुंचने की मूक साक्षी रही है। इसे भी पीएम ने देखा।

बोस वर्ष 1941 में एल्गिन रोड से फरार होकर झारखंड के गोमोह रेलवे स्टेशन पहुंचे थे और यहां से वह जर्मनी पलायन कर गए थे। ऐसा कहा जाता है कि नेताजी ऑडी कार रखने वाले देश के पहले व्यक्ति थे। इस के बाद पीएम मोदी ने नेशनल लाइब्रेरी का दौरा किया और नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा को पुष्प अर्पित किए और चार हजार मीटर कैनवस पर उकेरी गई नेताजी के पूरे जीवन की तस्वीरों को उकेरा गया था।

पीएम मोदी ने नेताजी की 125वीं जयंती पर उनकी स्मृति में जारी किया डाक टिकट व सिक्का 

राज्य ब्यूरो, कोलकाता : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के अवसर पर कोलकाता के विक्टोरियल मेमोरियल हॉल में आयोजित पराक्रम दिवस समारोह में हिस्सा लिया। पीएम मोदी के साथ-साथ बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौजूद रहीं। इस मौके पर पीएम मोदी ने नेताजी की स्मृति में 125 रुपये का सिक्का और स्मारक डाक टिकट भी जारी किया। पीएम ने यहां पराक्रम दिवस समारोह के उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता की। पीएम ने विक्टोरिया मेमोरियल में दो नए गैलरी का भी उद्घाटन किया। एक गैलरी नेताजी को लेकर तैयार किया गया है, जिसका नाम निर्भीक सुभाष रखा गया है। दूसरी गैलरी देश के अन्य स्वतंत्रता आंदोलनकारियों को लेकर तैयार की गई है जिसका नाम विप्लवी भारत रखा गया है। इस अवसर पर पीएम मोदी ने एक स्थायी प्रदर्शनी और नेताजी पर एक प्रोजेक्शन मैपिंग शो का भी उद्घाटन किया।

पीएम ने आएनए के दिग्गजों को भी किया सम्मानित 

इससे पहले समारोह के दौरान पीएम मोदी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा गठित इंडियन नेशनल आर्मी (आइएनए) के दिग्गजों को भी सम्मानित किया। उन्होंने आजाद हिंद के फौज के नायक को भी नमन किया। पीएम मोदी ने इस मौके पर कहा कि 2018 में ही देश ने आज़ाद हिंद सरकार के 75 साल को भी उतने ही धूमधाम से मनाया था। मोदी ने कहा कि नेताजी ने संकल्प था भारत की जमीन पर आजाद भारत की आजाद सरकार की नींव रखेंगे। नेताजी ने अपना ये वादा भी पूरा करके दिखाया। उन्होंने अंडमान में अपने सैनिकों के साथ आकर तिरंगा फहराया था। मोदी ने कहा कि उनके जैसे फौलादी इरादों वाले व्यक्तित्व के लिए असंभव कुछ नहीं था। उन्होंने विदेश में जाकर देश से बाहर रहने वाले भारतीयों की चेतना को झकझोरा। उन्होंने पूरे देश से हर जाति, पंथ, हर क्षेत्र के लोगों को देश का सैनिक बनाया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021