राज्य ब्यूरो, कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में खेल को बढ़ावा देने के लिए बुधवार को एक खेल विश्वविद्यालय खोलने का एलान किया। मशहूर फुटबाल क्लब ईस्ट बंगाल के कार्यक्रम में शामिल हुईं ममता ने कहा कि निजी संस्था राज्य में एक खेल विश्वविद्यालय बना रही है, लेकिन वह चाहती हैं कि सरकारी स्तर पर एक विश्वविद्यालय खुले, जिससे खेलकूद करने वाले युवाओं को सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में कई विश्वविद्यालय खोले हैं, अब खेल विश्वविद्यालय खोली जाएगी। इस अवसर पर ममता ने ईस्ट बंगाल के आक्राइव का उद्घाटन किया।

उन्होंने इस दौरान ईस्ट बंगाल क्लब को 50 लाख रुपये देने की भी घोषणा की। क्लब के बुनियादी ढांचे के विकास के लिए यह पैसा देने की उन्होंने बात कहीं। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने ईस्ट बंगाल के खिलाडिय़ों के बीच फुटबाल भी वितरित किए। उन्होंने कहा कि मैं फुटबाल सहित सभी खेलों से बहुत प्यार करती हूं। उन्हें फुटबाल बहुत पसंद है, इसलिए उन्होंने खेला होबे का नारा दिया था। मुख्यमंत्री ने यह भी खुलासा किया कि वह घर पर भी फुटबाल खेलती हैं। अवसर मिलने पर वह बैंडमिंटन भी खेलती हैं। उन्होंने कहा कि जब वह बच्ची थी तो वह तैरने से लेकर पेड़ पर चढऩे समेत कई प्रकार का खेल खेलती थीं।

ईस्ट बंगाल क्लब की तारीफ की

ममता ने इस दौरान ईस्ट बंगाल क्लब की तारीफ करते हुए कहा कि मैं उन्हें सलाम करती हूं जो लड़ते हैं, मरने से नहीं डरते। ईस्ट बंगाल ने सदा ही लड़ाई की है। बता दें कि हाल में ममता ने मोहन बागान क्लब के समारोह में भी शिरकत की थीं। इसके बाद अब वह ईस्ट बंगाल के कार्यक्रम में शामिल हुईं।

मुख्यमंत्री ने खिलाड़ियों का बढ़ाया मनोबल

ममता ने इस दौरान खिलाडिय़ों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा, आपको अपनी मानसिक शक्ति बढ़ानी होगी। आपको खुद पर भरोसा रखना होगा। अगर आपको खुद पर भरोसा है, तो आप दूसरों के खिलाफ लड़ सकते हैं। उन्होंने कहा- ईस्ट बंगाल को आईएसएल से बाहर किए जाने पर कई लोग दुखी हुए थे। अंतिम क्षण में निर्णय लिया गया और ईस्ट बंगाल को खेलने के लिए भेजा गया। इमामी समूह आगे आया और उसने मदद की। फिलहाल इमामी समूह इस्ट बंगाल को प्रयोजित कर रहा है। इस अवसर पर आयोजकों ने फुलबाल को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री की प्रशंसा की।

इस बार की दुर्गा पूजा दुनिया में सबसे बेहतरीन होगी

ममता ने इस मौके पर यह भी कहा कि इस बार की बंगाल की दुर्गा पूजा दुनिया में सबसे बेहतरीन होगी। यूनेस्को ने बंगाल की दुर्गा पूजा को दर्जा दिया है। उन्होंने कहा कि 22 अगस्त को वह पूजा क्लबों के साथ बैठक करेंगी। मुख्यमंत्री ने सभी क्लबों से दुर्गा पूजा में बढ-चढ़कर हिस्सा लेने की अपील की।

Edited By: Piyush Kumar