कोलकाता, जेएनएन। बेलेघाटा आईडी अस्पताल के चिकित्सकों ने इंग्लैंड से कोलकाता आए कोरोना संक्रमित युवक से अनेक लोगों में कोरोना वायरस फैलने की आशंका जताई है। क्योंकि पिछले 2 दिनों में संक्रमित युवक अनेक लोगों के संपर्क में आया था।

इसके साथ ही संक्रमित युवक के परिवार के दायित्वबोध पर भी चिकित्सकों ने सवाल उठाया है।उनका कहना है कि संक्रमित युवक को दो बार कोरोना की जांच के लिए अस्पताल जाने की सलाह देने के बावजूद उसने इसकी उपेक्षा की। संक्रमित युवक की मां राज्य सचिवालय में उच्च पद पर काम करती हैं।राज्य प्रशासन अब यह पता लगा रहा है कि पिछले 2 दिनों में संक्रमित युवक किन-किन लोगों के संपर्क में आया था। 

जानकारी हो कि हाल में ब्रिटेन की यात्रा से लौटे 18 वर्षीय युवक की कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट मंगलवार को सकारात्मक आयी। इसके साथ ही यह पश्चिम बंगाल में कोरोना वायरस का पहला सकारात्मक मामला हो गया।यह जानकारी राज्य सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दी। 

उन्होंने कहा कि युवक में सुबह से कोरोना के लक्षण दिखने शुरू हुए जिसके बाद उसे यहां बेलियाघाट आईडी अस्पताल में पृथक वार्ड में भर्ती कराया गया। युवक उच्च शिक्षा के लिए ब्रिटेन गया था और रविवार को वापस लौटा था।

अधिकारी ने कहा कि‘उसके नमूने एकत्रित करके जांच के लिए भेजे गए थे। रिपोर्ट से पता चला कि वह कोरोना वायरस से संक्रमित है। उन्होंने कहा कि युवक की मां और पिता एवं उनके चालक को पृथक कर दिया गया है।युवक की मां राज्य सरकार में वरिष्ठ अधिकारी हैं।

एक जनवरी के बाद विदेशों से लौटे लोगों को चिन्हित करें बंगाल सरकार : केंद्र

केंद्र ने देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बंगाल सरकार को उन सभी लोगों को चिन्हित करने का निर्देश दिया है, जो एक जनवरी के बाद विदेश से राज्य में लौटे हैं। इस बाबत राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा को पत्र लिखा गया है। केंद्र की ओर से खासकर उन लोगों को चिन्हित करने को कहा जा रहा है, जो चीन, जापान, इटली, थाईलैंड और नेपाल से लौटे हैं। गौरतलब है कि उन देशों में कोरोना का प्रभाव सबसे ज्यादा है।

केंद्र ने राज्य सरकार से इस काम में गैरसरकारी संगठनों की मदद लेने को कहा है। केंद्र ने उन लोगों से भी राज्य प्रशासन से खुद से संपर्क करने की अपील की है, जो एक जनवरी के बाद विदेश से लौटे हैं। सिर्फ बंगाल ही नहीं, सभी राज्यों के मुख्य सचिव को केंद्र सरकार की तरफ से पत्र लिखा गया है। केंद्र के मुताबिक अगले 30 दिन बेहद महत्वपूर्ण हैं और उस दौरान बेहद सावधान रहने की जरुरत है। भारत में अब तक 126 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं जबकि मृतकों की संख्या बढ़कर तीन हो गई है।

महानगर के सभी प्रमुख पर्यटन केंद्र भी बंद

कोरोना के चलते महानगर के सभी प्रमुख पर्यटन केंद्र भी बंद किए जा चुके हैं। अलीपुर चिडिय़ाघर से लेकर साइंस सिटी, इंडियन म्यूजियम, तारामंडल, विक्टोरिया मेमोरियल, नेशनल लाइब्रेरी आदि को 31 मार्च तक पहले ही बंद कर दिया गया है।

Posted By: Preeti jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस