कोलकाता, राज्य ब्यूरो। कोलकाता स्थित गैर सरकारी संगठन आर्या स्माइल एंड सोशल एजुकेशनल ट्रस्ट (एस्सेट) का प्रतिनिधि दल बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मिलता मिला। एस्सेट के निदेशक मनीत सिंह की अगुआई में एस्सेट के सदस्यों ने राज्यपाल को संस्था द्वारा कोरोना काल में किये गए कार्यों से अवगत कराया। इस अवसर पर राज्यपाल को उनकी और प्रथम महिला सुदेश धनखड़ की एक पोर्ट्रेट भी भेंट की गई।

एस्सेट के प्रतिनिधि दल ने राज्यपाल को बताया कि किस प्रकार संस्था ने चाइल्ड इन नीड इंस्टीट्यूट (सिनी) के साथ मिलकर कोविड19 के दौरान कोलकाता और बंगाल के अन्य हिस्सों में कई परिवारों की सहायता कर उनके जीवन का उत्थान कर रही हैं।

संस्था ने बताया की पिछले 8-10 महीनों में राज्य भर में 2500 से अधिक परिवारों तक राहत पहुंचाया गया। आज तक, 11,000 से अधिक राशन और भोजन के पैकेट, और 95,000 से अधिक फेस मास्क और 1200 से ज्यादा सैनिटाइज़र वितरित किए गए हैं, जिनमें, मजदूर और निम्न-आय वाले परिवार शामिल हैं। 500 से अधिक परिवारों को दवा और अन्य आवश्यक सामग्री दिए गए है। 2400 से अधिक बच्चों को पढ़ने की सामग्री दी गई है।

इसके अलावा पिछले 2-3 महीनों में उत्तर 24 परगना, दक्षिण 24 परगना और हुगली के प्रमुख रेलवे स्टेशनों पर गरीब लोगों को 250 से अधिक कंबल वितरित किए गए। वर्तमान में राज्य के आंतरिक स्थानों में इस तरह की कई पहल की जा रही हैं। एस्सेट के निदेशक मनीत सिंह ने बताया कि कोविड19 के दौरान सस्था द्वारा रोग प्रतिरोधक शक्ति, स्वच्छता और हाथ धोने के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन सत्र आयोजित किए किए जा रहे हैं साथ ही मास्क का उपयोग करने और नियमित रूप से हाथ धोने के महत्व के बारे में जागरूकता सत्र आयोजित किए जा रहे हैं। महामारी के खिलाफ उनकी लड़ाई के लिए सम्मान के रूप में, पुलिस, हेल्थकेयर स्टाफ, मीडिया, स्वीपर और अन्य कोरोना वारियर्स के बीच मास्क और हैंड सैनिटाइज़र वितरित किये गए हैं। 

Edited By: PRITI JHA