मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

v style="text-align: justify;">कोलकता, [जागरण संवाददाता]। पश्चिम मेदिनीपुर जिले की पूर्व पुलिस अधीक्षक व आइपीएस ऑफिसर भारती घोष व उनके करीबियों के ठिकाने पर छापेमारी के बाद सोमवार को सीआइडी ने नोटिस जारी किया है। उन्हें तत्काल सीआइडी मुख्यालय भवानी भवन में हाजिर होने का निर्देश दिया गया है।

बताते चलें कि एसपी के पद से हटाए जाने के बाद भारती घोष ने पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद 2 दिन पहले अचानक सीआइडी की टीम ने उनके आवास तथा करीबी पुलिस अधिकारियों के ठिकानों पर छापेमारी शुरू कर दी, जिसमें कई लाखों रुपए व सोने बरामद होने का दावा किया गया है। इसके बाद सोमवार को सुबह सी आइ डी की ओर से उन्हें नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए भवानी भवन आने का निर्देश दिया गया है।
जब्त हुए हैं कई दस्तावेज, जिलों में भी हुई छापेमारी
तबादले से नाराज होकर इस्तीफा देने वाली पश्चिम मेदिनीपुर की पूर्व एसपी आइपीएस भारती घोष के कोलकाता स्थित एक और आवास पर सीआइडी ने छापेमारी की है। रविवार दोपहर सीआइडी की एक टीम ने यहां के मुकुंदपुर स्थित भारती के फ्लैट में तलाशी अभियान चलाया है। बताया गया है कि यहां से भी कुछ दस्तावेज सीआइडी के हाथ लगे हैं। इन्हें जब्त कर भवानीभवन स्थित सीआइडी मुख्यालय में लाया गया है। उल्लेखनीय है कि इसके पहले 2 फरवरी को भी सीआइडी ने भारती के नाकतला स्थित आवास समेत दक्षिण 24 परगना और पश्चिम मेदिनीपुर में भारती के करीबी पुलिस अधिकारियों के उन सभी 12 ठिकानों पर सीआइडी ने छापेमारी की थी जहां-जहां वह रही थीं या कुछ समय के लिए ठहरी थीं। इस दौरान 60 लाख रुपये, दो किलो सोना, 20 से अधिक संपतियों के दस्तावेज समेत मोबाइल, लैपटॉप आदि बरामद किए है। इसके साथ ही आम लोगों से कथित तौर पर वसूली के आरोप में पश्चिम मेदिनीपुर के बेलदा थाना प्रभारी प्रदीप रथ को क्लोज करने के बाद गिरफ्तार कर लिया। इतनी भारी मात्रा में नगदी मिलने के बाद माना जा रहा है कि भारती की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं। बताया गया है कि चंदन माझी नाम के एक व्यक्ति ने शिकायत दर्ज कराई थी कि पिछले साल के अंतिम माह में कुछ पुलिस वालों ने उनसे जबरदस्ती रुपये छीने थे। इसी मामले में कोर्ट का आदेश मिलने के बाद गुरुवार रात से ही सीआइडी की अलग-अलग टीम ने कोलकाता समेत जिलों तलाशी अभियान शुरू किया था। बहरहाल सूत्रों के हवाले से पता चला है कि सीआइडी ने पश्चिम मेदिनीपुर जिले में कुछ अन्य पुलिस अधिकारियों के आवास पर भी तलाशी अभियान चलाया है। हालांकि छापेमारी के बाद भारती ने आरोप लगाया था कि कानूनी प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया है लेकिन शनिवार को सीआइडी के डीआइजी निशांत परवेज ने साफ किया था कि सारी कार्रवाई कानूनी दायरे में की गई है और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

Posted By: Preeti jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप