Move to Jagran APP

West Bengal By-Election: बंगाल में फिर मचेगा चुनावी घमासान, इन विधानसभा सीटों पर अगले माह होगा उपचुनाव

West Bengal By-Election लोकसभा चुनाव समाप्ति के बाद अब चुनाव आयोग खाली हुई विधानसभा सीटों पर उपचुनाव कराने जा रहा है। इसी कड़ी में पश्चिम बंगाल की भी चार सीटों पर उपचुनाव की घोषणा की गई है। वहीं राज्य की पांच और सीटों पर भी उपचुनाव जल्द कराया जा सकता है। देखें सीटों की लिस्ट एवं इससे जुड़ी अन्य जानकारी।

By Agency Edited By: Sachin Pandey Published: Mon, 10 Jun 2024 03:44 PM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 03:44 PM (IST)
West Bengal By-Elections: पश्चिम बंगाल में चार विधानसभा सीटों पर उपचुनाव की घोषणा की गई है।

आईएएनएस, कोलकाता। लोकसभा चुनाव की समाप्ति तो हो गई, लेकिन चुनावी मौसम अभी जाने वाले नहीं है। अब अलग-अलग राज्यों में उपचुनाव की रणभेरी बजेगी। पश्चिम बंगाल में भी चार विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होना है, जिसके लिए चुनाव आयोग ने आधिकारिक घोषणा कर दी है।

आयोग के अनुसार इन सीटों पर 10 जुलाई को मतदान होगा। वहीं मतगणना 13 जुलाई को की जाएगी। ये चार सीटें हैं- उत्तर 24 परगना जिले की बागदा, नादिया जिले की राणाघाट -दक्षिण, उत्तरी दिनाजपुर जिले की रायगंज और कोलकाता की मानिकतला। मानिकतला में पूर्व तृणमूल कांग्रेस विधायक साधन पांडे के निधन के कारण उपचुनाव जरूरी हो गया है।

पार्टी बदलकर लड़ा चुनाव

वहीं बगदा, राणाघाट-दक्षिण और रायगंज सीट से भाजपा के विधायक 2021 के विधानसभा चुनाव में जीतकर आए थे, लेकिन लोकसभा चुनाव में तीनों ने तृणमूल कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ा, जिस कारण से उन्हें विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देना पड़ा। ये विधायक थे बागदा से बिस्वजीत दास, राणाघाट-दक्षिण से डॉ मुकुट मणि अधिकारी और रायगंज से कृष्णा कल्याणी। दिलचस्प बात यह रही की तीनों को लोकसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा।

इन सीटों पर भी होंगे उपचुनाव

अब इन तीनों विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव कराए जाने की जरूरत है। वहीं, पश्चिम बंगाल के सीईओ के कार्यालय के अंदरूनी सूत्रों ने कहा कि इन चार निर्वाचन क्षेत्रों के अलावा, इस वर्ष के भीतर छह अन्य निर्वाचन क्षेत्रों में उपचुनाव कराने होंगे। ये छह निर्वाचन क्षेत्र हैं- कूच बिहार जिला, बांकुरा जिला में तलडांगरा, पश्चिम मिदनापुर जिला में मेदिनीपुर, उत्तर 24 परगना जिला में नैहाटी और हरोआ और अलीपुरद्वार जिला में मदारीहाट।

इन सीटों पर तृणमूल कांग्रेस के विधायक हैं, जोकि इस बार लोकसभा के लिए भी चुने गए हैं। इसलिए अब उन्हें विधायक पद से इस्तीफा देना होगा, जिससे इन पांच विधानसभा क्षेत्रों के लिए उपचुनाव की आवश्यकता होगी। इसी तरह मदारीहाट में भी उपचुनाव होगा क्योंकि वहां से निर्वाचित भाजपा विधायक मनोज तिग्गा ने इस बार अलीपुरद्वार लोकसभा से चुनाव जीता है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.