कोलकाता, एजेंसी। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव को लेकर सरगरमी तेज है सभी की निगाहें बंगाल पर टिकी हैं। विधानसभा चुनाव की तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे राज्य में राजनीतिक हिंसा बढ़ती जा रही है। राज्य के कूचबिहार जिले में बुधवार सुबह भाजपा मंडल अध्यक्ष का शव दिनहाटा में पार्टी कार्यालय के पास पाया गया, जिसके बाद हड़कंप मच गया। भाजपा ने इसे प्रायोजित हत्या बताया है और इसके लिए सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को जिम्मेदार ठहराया है। स्थानीय भाजपा नेताओं का आरोप है कि यह एक पूर्व-नियोजित हत्या है। वे (टीएमसी) चाहते हैं कि हम (भाजपा कार्यकर्ता) डर के मारे घर में  बैठें रहें, बाहर न निकले लेकिन हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। हालांकि तृणमूल कांग्रेस ने भाजपा के आरोपों को खारिज कर दिया है। वहीं, इस घटना से इलाके में काफी रोष है।

बंगाल में भाजपा पिछले दस सालों से सत्ता पर काबिज ममता बनर्जी की सरकार को उखाड़ फेंकने की कोशिश कर रही है। पार्टी ने राज्य के चुनाव प्रचार के लिए दिग्गज नेताओं की पूरी फौज उतार दी है।

मालूम हो कि बंगाल में चुनावी सरगर्मी के बीच राजनीतिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। कूचबिहार के दिनहाटा में भाजपा कार्यालय के पास के पार्टी के मंडल अध्यक्ष का शव मिलने से हड़कंप मच गया है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि  यह एक पूर्व-नियोजित हत्या है। वे चाहते हैं कि हम (भाजपा कार्यकर्ता) डर के मारे घरों में बैठें, लेकिन हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे।

जानकारी हो कि इससे पहले भी कोलकाता के सोनारपुर में एक भाजपा कार्यकर्ता विकास नस्कर का शव पेड़ से लटकता मिला था। भाजपा ने कहा था कि विकास नस्कर की हत्या कर दी गई है। वह बूथ नंबर 57 का भाजपा का कार्यकर्ता था। बता दें कि पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 27 मार्च से शुरू होगा। मतदान आठ चरणों में 29 अप्रैल तक चलेगा जिसके बाद दो मई को नतीजे घोषित किए जाएंगे।

भाजपा युवा मोर्चा नेता के आवास पर फायरिंग

पश्चिम बंगाल के कूचबिहार में भारतीय जनता पार्टी के मंडल अध्यक्ष को आज दिनहाटा में पार्टी कार्यालय के पास मृत पाया गया। दूसरी और आसनसोल के  हीरापुर थाना अंतर्गत रांगापाडा में भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष दिग्विजय सिंह के आवास पर मंगलवार देर रात अज्ञात लोगों ने फायरिंग की। घटना के समय दिग्विजय सिंह अपने आवास पर ही थे। इस घठना से परिवार के लोग आतंकित है। सूचना पाकर रात में ही पुलिस पहुंची और जांच पडताल की। रात में ही भाजपा नेता जितेंद्र तिवारी, कृष्णेंदु मुखर्जी दिग्विजय सिंह के आवास पहुंचे और घटना की निंदा की।

दिग्विजय सिंह ने तृका समर्थित असामाजिक तत्वों पर फायरिंग करने का आरोप लगाया है। दिग्विजय सिंह ने बताया कि रात करीब एक बजे बाइक पर सवार होकर कुछ लोग आए और घर के बाहर वाले दरवाजे को खटखटाया। कुछ देर बाद किसी के बाहर न निकलने पर उन लोगों ने छह राउंड फायरिंग की, इसके पश्चात सभी लोग फरार हो गए। फायरिंग की घटना के बाद उन्होंने पुलिस को फोन किया, जिसके बाद पुलिस आई और जांच पड़ताल की। कहा कि उनके घर मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा आने वाले है। इसीलिए डराने के लिए फायरिंग की गई, लेकिन वह डरने वाले नही है।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021