जागरण संवाददाता, खड़गपुर : पश्चिम मेदिनीपुर जिले के खड़गपुर स्थित गोल बाजार भाजपा कार्यालय में मंगलवार को बांग्लादेश के राष्ट्रीय कवि व पश्चिम बंगाल के विद्रोही कवि काजी नजरूल इस्लाम एवं आधुनिक भारत के निर्माता माने जाने वाले राजा राम मोहन राय की जयंतियां मनाई गईं। इस अवसर पर भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा (प्रदेश कमेटी) के क्षेत्रीय प्रभारी नजीर हुसैन के अलावा मानवाधिकार प्रकोष्ठ के सदस्य मनोज कुमार प्रसाद, दलीय कार्यकर्ता राजेश कुमार शर्मा, जितेंद्र वर्मा आदि मौजूद रहे।

उपस्थित सज्जनों ने कवि नजरूल एवं राजा राम मोहन राय की तस्वीरों पर माल्यार्पण पर दोनों महापुरुषों के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि

बांग्लादेश के राष्ट्रीय कवि काजी नजरूल इस्लाम का जन्म 24 मई, 1899 को पश्चिम बंगाल के व‌र्द्धमान जिला एक दरिद्र मुस्लिम परिवार में हुआ था। वे अग्रणी बांग्ला कवि, संगीतज्ञ व दार्शनिक थे। बांग्लादेश के अलावा पश्चिम बंगाल में भी उनकी कविता और गान को समान सम्मान प्राप्त है। उनकी कविता में विद्रोह के स्वर होने के कारण उनको Þविद्रोही कवि'के तौर पर भी जाना जाता है। बताया गया कि कवि नजरूल भारतीय जनसंघ के संस्थापक डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के काफी करीब थे। डॉ. मुखर्जी के कहने पर उन्होंने कई गीतों की रचना भी की थी, वहीं आधुनिक भारत के निर्माता माने जाने वाले राजा राममोहन राय की 246वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि राजा राम मोहन राय का जन्म 22 मई, 1772 को पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिला अंतर्गत राधानगर गांव में हुआ था। उन्हें आधुनिक भारत का जनक कहा जाता है। बाल विवाह, सती प्रथा, जातिवाद, अंधविश्वास, कर्मकांड, पर्दा प्रथा आदि का उन्होंने पुरजोर विरोध किया था।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप