चामूर्ची/बानरहाट, जेएनएन।  गत दो वर्षोंं  से वैश्विक महामारी कोविड के कारण बानरहाट में ऐतिहासिक मेला का आयोजन नहीं हो पा रहा था। इस साल सार्वजनिक दुर्गा पूजा के उपलक्ष्‍य में बानरहाट मेला का आयोजन किया गया है। बानरहाट मेला में इस बार लोगों की अपार भीड़ प्रतिदिन देखने को मिल रही है। दुर्गा पूजा समाप्त होते ही बानरहाट मेला पूरी तरह से जम उठा है। मेला में आसपास के इलाके नागराकाटा एवं धुपगुड़ी ब्लॉक के अलावा अलीपुरद्वार जिला के लोग भी काफी संख्या में मेला का आनंद उठाने पहुंचते हैं। इसी प्रकार पड़ोसी देश भूटान के सामसे जिले के भूटानी नागरिक भी प्रतिदिन मेला में पहुंच रहे हैं।

मेला में भीड़ देखकर व्‍यापारियों के खिले चेहरे 

मेला में भीड़ देखकर स्थानीय व्यवसाय एवं मेला कमेटी के सदस्य काफी खुश है। मेला में हो रहे भीड़ को देखते हुए बानरहाट थाना की ओर से मेला में सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है। साथ ही सुरक्षा व्‍यवस्‍था पूरी तरह मुस्‍तैद  है। प्रतिदिन अपराह्न  दो बजे से मेला शुरू होता है एवं शाम होते-होते मेला में लोगों की भीड़ हो जाती है। चाय बागान इलाके से लोग काफी संख्या में मेला का आनंद उठाने के लिए पहुंचते हैं। मेला रात 11 बजे तक लगता है। बानरहाट बाज़ार का सड़क लोगों के लिए पार्किंग के रूप में परिणत हो गया है।

15 दिनों तक चलता है यह मेला 

बता दें कि प्रत्येक वर्ष दुर्गा पूजा कमेटी की ओर से मेला सप्तमी के दिन से शुरू होकर लगातार 15 दिनों तक  चलता है। दुर्गा पूजा के उपलक्ष्‍य  में भूटान सहित डुआर्स के लोग काफी संख्या में इस मेले में पहुंचते हैं। यह  डुआर्स के सबसे पुराने एवं ऐतिहासिक मेला के रूप में जाना जाता है। मेला में विभिन्न जिले से दुकान, स्टॉल एवं लोगों की जरूरत के सामान से लेकर बच्चों के खिलौने, मौत का कुंआ, विभिन्न प्रकार के झूले, कपड़े की दुकान, जूते की दुकान, कॉस्मेटिक दुकान, खाने-पीने की सामग्री की दुकाने हैं।

500 दुकानें, 16 अक्‍टूूूबर तक चलेगा मेला 

कूचविहार आए हुए एक विक्रेता अनिल दास ने बताया काफी आशा को लेकर प्रतिवर्ष दुकान को लेकर इस मेला में आते हैं। इस बार काफी अच्छा बिक्री हो रही है। चामुर्ची से मेला घूमने के लिए पहुंचीं अंजना प्रधान ने बताया कि झूले में घूमने एवं विभिन्न प्रकार की जरूरत के सामान खरीदने की इच्छा को लेकर परिवार के साथ इस मेला में आई हूं। मेला इतने बड़े इलाके में लगा है कि एक दिन में घूम पाना संभव नहीं है। मेला कमेटी की ओर से कुट्टी नंदी, नयन दत्त, मानस दत्ता ने बताया दो वर्ष के बाद मेला लगने के कारण भी इस वर्ष काफी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। भीड़ को देखते हुए अनेक बड़े इलाके में मेला को बैठाया गया है। मेला 16 अक्टूबर तक चलेगा। मेला में छोटेेेेेे-बड़े सभी मिलाकर प्राय: 500 दुकाने हैं। मेला में सुरक्षा को लेकर बानरहाट थाना की पुलिस काफी चौकसी बरत रही है। बानरहाट थाना के ट्रैफिक ओसी कमल दे ने बताया मेला को लेकर हमलोग प्रतिदिन खासकर शाम में जाम मुक्त सड़क रखने के लिए तैनात रहते हैं। 

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट