जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : जलपाईगुड़ी जिले के मयनागुड़ी के निकट पिछले दिनों दोमोहानी में हुई भयंकर रेल दुर्घटना में घायल कई मरीजों की चिकित्सा उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में चल रही है। इनके स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा है। कुछ ही दिनों में इनको छुट्टी भी मिल जाने की संभावना है। डॉक्टरों के अनुसार सभी घायल मरीज अब पूरी तरह से खतरे से बाहर हैं।

यहां बता दें कि इन घायल मरीजों की हालचाल मंगलवार को पूसी रेलवे के जीएम अंशुल गुप्ता ने लिया। एनएफ रेलवे के जीएम गुप्ता तथा जलपाईगुड़ी लोकसभा क्षेत्र के सांसद डॉ जयंत रॉय ने मंगलवार को उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज व अस्पताल का भ्रमण कर मरीजों से मुलाकात की तथा अस्पताल में चलाए जा रहे चिकित्सा व्यवस्था की जानकारी हासिल की। इस मौके पर जीएम ने संवाददाताओं से बातें करते हुए कहा कि रेल दुर्घटना में घायल मरीजों के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार हो रहा है। घायलों का मुकम्मल इलाज रेलवे द्वारा कराया जा रहा है। इलाज में लगने वाला खर्च रेलवे द्वारा मुहैया कराया जा रहा है।

जीएम व सांसद ने एनबीएमसीएच के अलावा सिलीगुड़ी के दो निजी अस्पतालों का भी दौरा किया जहां पर रेल दुर्घटना में घायल कुछ मरीज का इलाज चल रहा है।

उल्लेखनीय है कि पिछले सप्ताह गुरुवार 13 जनवरी को जलपाईगुड़ी जिले के मयनागुड़ी के निकट दोमोहानी में हुई भयंकर रेल दुर्घटना में नौ यात्रियों की मौत हो गई थी, जबकि 35 से ज्यादा यात्री घायल हो गए थे। घायलों में गंभीर रूप से घायल सात मरीजों को बेहतर इलाज के लिए एनबीएमसीएच रेफर किया गया था। 15 जनवरी को रेलमंत्री अश्वनी वैष्णव ने भी घटना स्थल के अलावा जलपाईगुड़ी सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल तथा एनबीएमसीएच का दौरा कर घायलों का हालचाल लिया था। फिलहाल एनबीएमसीएच में पांच घायल मरीज भर्ती हैं।

Edited By: Jagran