सिलीगुड़ी, जागरण संवाददाताा।  सिलीगुड़ी शहर से थोड़ी दूर पांच माइल स्थित नॉर्थ बंगाल वाइल्ड एनिमल्स पार्क (बंगाल सफारी) में अब एशियाई शेर, जेब्रा व भालू की एक विशेष प्रजाति स्लॉथ बीयर को भी लोग देख पाएंगे। इन जानवरों को यहां लाए जाने की कवायद तेज कर दी गई है। वेस्ट बंगाल जू अथॉरिटी के सदस्य शरद चौधरी ने यह जानकारी दी। वह सोमवार को यहां राज्य के वन मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक के बंगाल सफारी दौरे के दौरान बंगाल सफारी सभागार में संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे।

एशियाई प्रजाति के लाए जाएंगे शेर 

उन्होंने बताया कि अगले दो-तीन महीने के अंदर जानवरों को यहां लाने की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी।  इसके लिए राज्य सरकार से मंजूरी मिल चुकी है। अब सेंट्रल जू अथॉरिटी से अनुमति का इंतजार है। जल्द ही सारी औपचारिकताओं को पूरा कर लिया जाएगा। यहां एशियाई प्रजाति के शेर आगरा या हैदराबाद से लाए जाएंगे। वैसे शेर, भालू, या जेब्रा कितनी संख्या में लाए जाएंगे, इसका अभी खुलासा नहीं किया गया है।

बंगाल सफारी में जू के साथ तीन सफारी केे भ्रमण की सुविधा  

उल्लेखनीय है कि, सिलीगुड़ी शहर से आठ-10 किलोमीटर दूर स्थित उत्तर बंगाल वन्य प्राणी उद्यान (बंगाल सफारी) वन विभाग के बैकुंठपुर डिविजन अंतर्गत महानंदा वन्यप्राण अभ्यारण्य के 297 हेक्टेयर भूभाग में फैला हुआ है। इस पार्क में वर्तमान में मिक्स्ड हर्बिवोर सफारी (91 हेक्टेयर), टाइगर सफारी (20 हेक्टेयर) व एशियाई ब्लैक बियर सफारी (20 हेक्टेयर), कुल तीन सफारी एवं चिड़ियाघर भाग है। आगंतुकों को विशेष रूप से डिजाइन किए गए वाहनों द्वारा इन सफारी में ले जाया जाता है। जहा वे काफी संख्या में हिरण, बंदर तरह-तरह के पक्षी, रॉयल बंगाल टाइगर, तेंदुआ, एशियाई भालू, गैंडा, हाथी, घड़ियाल आदि वन्य प्राणियों के दर्शन का आनंद उठाते हैं। वहीं उन्हें गोद भी ले सकते हैं।

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट