फोटो-राजेश-

-महिला यात्री के साथ लूटपाट,बैग लेकर भागे

-मौके पर पहुंचे टीटीई को ट्रेन से नीचे फेंका

मांगुराजन-तीनमाइल हाट स्टेशन के बीच हुई घटना

-आरपीएफ और जीआरपी दोनों द्वारा जांच शुरू

जागरण संवाददाता, सिलीगुड़ी : एनजेपी से लगभग 30 किलोमीटर दूर मांगुराजन-तीनमाइल हाट स्टेशन के बीच 15619 गया-कामाख्या एक्सप्रेस में बदमाशों ने जमकर तांडव मचाया। बदमाशों ने यात्रियों के साथ लूटपाट की। इस दौरान मौके पर पहुंचे एक टीटीई को ट्रेन से नीचे फेंक दिया। उसके बाद बदमाश एक महिला यात्री से बैग छीनकर फरार हो गए। इस घटना में टीटीई अजय सोनार घायल हो गए। जिन्हें इलाज के लिए एनजेपी रेलवे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। यहां प्राथमिक चिकित्सा के बाद उनको छुट्टी दे दी गई। इस मामले को लेकर टीटीई ने ठाकुरगंज जीआरपी में प्राथमिकी दर्ज कराई है।

मिली जानकारी के अनुसार गया-कामाख्या एक्सप्रसे रात लगभग ढाई बजे मांगुरजान स्टेशन से गुजर रही थी। तभी तीनमाइल हाट के बीच एक ब्रिज पर बदमाशों ने चेन खींच कर ट्रेन रोक दी। उस वक्त टीटी एसी ककोच बी-वन में थे। ट्रेन रुकने के कारण जानने के लिए जब वह आगे बढे़ तो ए-वन कोच में यात्री चीख पुकार मचा रहे थे। इसी दौरान बदमाश एक महलिा यात्री से बैग छीनकर भागने की कोशिश कर रहे थे। टीटी सोनार ने बदमाशों को पकड़ने की कोशिश की। बदमाशों की संख्या दो थी। दोनों बदमाशों ने उल्टे टीटी को ट्रेन से नीचे फेंक दिया और फरार हो गए। कोच को गेट बंद कर दूसरे दरवाजे से अंधेरे का लाभ उठाते हुए दोनेंा बदमाश फरार होने में कामयाब रहे। इस बीच ट्रेन से नीचे फेंके जाने के कारण टीटीई को गंभीर चोटें आई। टीटीई किसी तरह से स्लीपर कोच में चढ़कर एनजेपी पहुंचे। जहां से उन्हें इलाज के लिए एनजेपी रेलवे अस्पताल ले जाया गया। अधिकारियों ने पूछा टीटीई का हालचाल घायल टीटीई का हालचाल लेने व घटना की जानकारी हासिल करने एनएफ रेलवे कटिहार डिवीजन के एडीआरएम पार्थ प्रतीम राय व एनएफ रेलवे एनजेपी के स्टेशन निदेशक राजीव कुमार झा समेत अन्य अधिकारी एनजेपी रेलवे अस्पताल पहुंचे। एसीएम नरेंद्र मोहन व सीसीएमआइ राजदीप बसु की उपस्थिति में ठाकुरगंज रेलवे स्टेशन स्थित जीआरपी थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। एनजेपी जीआरपी थाना द्वारा मिली जानकारी के अनुसार इस मामले की जांच करने के लिए आरपीएफ व जीआरपी की एक टीम घटना स्थल पर रवाना हुई है। सूत्रों द्वारा मिली जानकारी के अनुसार पहले इस तरह की घटना बारसोई व आस-पास के स्टेशनों पर होती थी। उन क्षेत्रों में आरपीएफ व जीआरपी द्वारा सख्ती बरतने के बाद बदमाश अपनी जगह भी बदलने की लगे हैं। क्या कहते हैं रेलवे अधिकारी

इस बारे में एडीआरएम पार्थ प्रतीम राय ने बताया कि घायल टीटीई को इलाज के बाद अस्पताल से छोड़ दिया गया है। इस घटना की जांच जीआरपी व आरपीएफ द्वारा की जा रही है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran