चेंगड़ाबांधा, संवाद सूत्र। कूचबिहार जिले में चेंगड़ाबांधा सीमा के माध्यम से बांग्लादेश को भूटानी उत्पादों के निर्यात के लिए भी राज्य सरकार की नई वाहन सुविधा प्रणाली का पालन करना होगा। यह सिस्टम सोमवार से शुरू हो गया है। भूटानी उत्पाद को इस नई प्रणाली के तहत बांग्लादेश को भी भेजा गया है। हालांकि भूटानी प्रति ट्रक पंजीकरण शुल्क भारतीय ट्रकों की तुलना में बहुत कम है। बता दें कि चेंगड़ाबांधा सीमा के माध्यम सेभारत-बांग्लादेश विदेश व्यापार के अलावा भूटान का भी बांग्लादेश से आयात-निर्यात व्यापार चल रहा है। कई भारतीय भी भूटान-बांग्लादेश विदेश व्यापार से जुड़े हुए हैं, यानि भारतीय चेंगड़ाबांधा सीमा से भूटान के उत्‍पाद बांग्‍लादेश निर्यात करते हैं। 

प्रशासन ने व्‍यापारियों को स्‍पष्ट किया कि नई वाहन सुविधा प्रणाली क्‍या है। जानकारी के अनुसार, नई प्रणाली में व्यवसाय करने के लिए व्यवसायियों का उत्साह बढ़ रहा है। उन्होंने ऑनलाइन बुकिंग शुरू कर दी है। प्रशासन के सूत्रों के अनुसार संख्या धीरे-धीरे बढ़ने लगी है। हालांकि नई प्रणाली सोमवार से ही लागू हुई है, इसलिए मंगलवार को पुरानी व्यवस्था के तहत भी बांग्लादेश को उत्पादों का निर्यात किया गया।  कई व्यापारियों ने बताया  कि उनके कई ट्रक माल के साथ बांग्लादेश में प्रवेश करने के इंतजार में पहले से ही इस सीमा में फंसे हुए हैं। उन्होंने इसकी सूची भी प्रशासन को सौंप दी है। उस सूची के अनुसार, प्रशासन ने ट्रकों को बांग्लादेश जाने की अनुमति दी। इस दिन चेंगड़ाबांधा सीमा के बंदरगाह क्षेत्र में पुलिस सुरक्षा के कड़े इंतजाम थे। मेखलीगंज एसडीपीओ अरिजीत पाल चौधरी, सर्कल इंस्पेक्टर पूरन राय, ओसी राहुल तालुकदार सहित अन्य पुलिस अधिकारी सीमा पर मौजूद थे। कई जगहों पर पुलिस को तैनात किया गया है। पुलिस की ओर से विभिन्न दस्तावेज देखकर ट्रक सीमा की ओर भेजे गए। इस बारे में कूचबिहार जिले के पुलिस अधीक्षक सुमित कुमार ने कहा कि चेंगड़ाबांधा सीमा पर एक नई व्यवस्था में विदेशी व्यापार शुरू किया गया है। इसकी पूर्ति भी व्यापारियों से हो रही है। इस प्रणाली से माल वाले ट्रक बाग्लादेश में बहुत जल्दी प्रवेश कर सकेंगे। 

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट