उत्तरकाशी, जेएनएन। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में महिलाओं ने शराब की दुकान खुलने का अनोखे अंदाज में विरोध किया है। दरअसल, गंगोत्री हाइवे पर डुंडा ब्लॉक (उत्तरकाशी) के वीरपुर में बीती पांच मई से अंग्रेजी शराब की दुकान संचालित हो रही है, जिसका महिलाएं कड़ा विरोध कर रही हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को उन्होंने खास अंदाज में शराब की दुकान खोलने का विरोध किया। दुकान में शराब लेने वालों को फूल भेंटकर उन पर पुष्पवर्षा भी की।

उत्तरकाशी जिले के वीरपुर में शराब की दुकान खोलने का महिलाएं लंबे समय से विरोध कर रही हैं। इस बीच लॉकडाउन के चलते प्रशासन ने दुकान बंद करवा दी। लेकिन, बीती पांच मई को जैसे ही दोबारा खोली गई, महिलाएं एक बार फिर विरोध में उतर आईं। पहले दिन उन्होंने दुकान खोले जाने को लेकर जमकर आक्रोश जताया, लेकिन प्रशासन पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ा। 

लिहाजा, शुक्रवार को महिलाएं शराब की दुकान पर पहुंचीं और नारेबाजी शुरू कर दी। महिलाएं अपने साथ फूल लेकर भी आई थीं। इस दौरान जो भी व्यक्ति शराब लेने दुकान पर पहुंचे, महिलाओं ने उन पर फूलों की वर्षा की और फिर उन्हें फूल भेंटकर विदा किया। वीरपुर की प्रधान सुनीता नेगी ने कहा कि शराब की दुकान खोलने का विरोध करने पर शासन-प्रशासन उन्हें मुकदमा दर्ज करने का भय दिखा रहा है। इसलिए शासन-प्रशासन को ध्यान केंद्रित करने के लिए उन्होंने गांधीगीरी का रास्ता अपनाया। 

यह भी पढ़ें: Lockdown 3.0: लॉकडाउन की तलब टूटी, शराब ठेकों पर हालात सामान्य

 

महिलाओं ने कहा कि डुंडा व वीरपुर में शराब की दुकान नहीं खुलनी चाहिए। ये दोनों गांव कच्चडू़ देवता मंदिर और रेणुका देवी मंदिर के बीच पड़ते हैं। इसलिए यहां से शराब की दुकान को तत्काल हटाया जाए। विरोध करने वालों में डुंडा की प्रधान पुष्पा भट्ट, क्षेत्र पंचायत सदस्य विजय भारती (डुंडा), कविता (वीरपुर) आदि शामिल थे।

यह भी पढ़ें: नई कीमत अंकित होने तक शराब की गोदाम से निकासी पर रोक, पढ़िए

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस