उत्तरकाशी, जेएनएन। उत्तरकाशी जिले की यमुना घाटी में एक बार फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप की तीव्रता कम थी, लेकिन दहशत में आए लोग रात को ही घरों से बाहर निकलकर भागे।  

उत्तरकाशी के जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि भूकंप के झटके बेहद मामूली थे और बड़कोट क्षेत्र में ही केंद्रित रहे। गौरतलब है कि इससे पहले जनवरी में भी यहां भूकंप के झटके महसूस किए गए थे।

आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि यमुना घाटी के बड़कोट कस्बे के आसपास रात करीब 9.26 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए।  भूकंप की तीव्रता 2.9 मापी गई। इसका केंद्र उत्तरकाशी और बडकोट के बीच आंका गया। 

भूकंप के झटके महसूस होने से दहशत में आए लोग लोग घरों से बाहर निकल आए। फिलहाल कहीं से किसी तरह के नुकसान की सूचना नहीं है। दूसरी ओर जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने बताया कि अफसरों को एहतियात बरतने को कहा है।

गौरतलब है कि उत्तरकाशी भूकंप के लिहाज से संवेदनशील रहा है। 20 अक्टूबर 1991 को आए भूकंप में आठ सौ से अधिक लोग मारे गए थे। साथ ही सैकड़ों परिवार बेघर हो गए थे। इसके बाद वर्ष 1999 के भूकंप ने फिर उत्तरकाशी को डराया। इसके बाद भी जिले में समय-समय पर भूकंप के झटके महसूस किए जाते रहे। इसी वर्ष 31 जनवरी को उत्तरकाशी में दो बार भूकंप के झटके महसूस हुए। इनका केंद्र उत्तरकाशी था। भूगर्भीय दृष्टि से जिला बेहद संवेदनशील जोन-4 व 5 में स्थित है।

यह भी पढ़ें: उत्‍तरकाशी में आया भूकंप, दो बार डोली धरती; लोग घरों से निकले बाहर

यह भी पढ़ें: भूकंप की जानकारी को उत्तराखंड में लगे 155 सेंसर, चंद सेकेंड में जारी होगा अलर्ट

यह भी पढ़ें: उत्‍तरकाशी में डोली धरती, महसूस किए गए भूकंप के झटके

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप