उत्तरकाशी, जेएनएन। तीसरे चरण के लॉकडाउन में ग्रीन जनपदों को कुछ रियायत मिली। इस दौरान लॉकडाउन और शारीरिक दूरी के सारे नियम टूटे। बाजार से लेकर बैंकों तक भीड़ उमड़ी। बाजार में अधिकांश लोग बिना मास्क के ही नजर आए। बदहाल हालत देख पुलिस को लाठी भी फटकारनी पड़ी तथा शारीरिक दूरी के नियम बताने पड़े। यह स्थिति जिला मुख्यालय से पुरोला और मोरी तक दिखी। 

उत्तरकाशी जिला मुख्यालय के बाजार में सुबह से भी भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। आसपास के लोग बड़ी संख्या में खरीददारी के लिए उमड़े। दुकानदारों ने भी करीब डेढ़ माह बाद दुकानें खोली। बैंक, एटीएम के बाहर भी भीड़ लगी रही। नौगांव में दोपहर के समय भीड़ अधिक उमड़ी तो प्रशासन ने व्यापारियों से दुकानों को बंद रखने का आह्वान किया। 

डामटा में व्यापारियों ने बैठक की, जिसमें निर्णय लिया कि आगामी आदेश तक डामटा में बाजार सुबह आठ बजे से दोपहर 12 बजे तक खुलेगा। यहां व्यापारियों ने प्रशासन का सहयोग करने की बात की। पुरोला में बैंक व एटीएम के बाहर शारीरिक दूरी के मानकों की खूब धज्जियां उड़ी। जनपद भर में पुलिस को व्यवस्था बनाने में खासी मशक्कत करनी पड़ी तथा बेवजह घूम रहे लोगों को भगाने के लिए लाठी भी फटकारनी पड़ी। जिला मुख्यालय में कलक्ट्रेट के गेट पर सुबह से लेकर दोपहर तक भीड़ उमड़ी रही। यहां भी व्यवस्था बनाने के लिए पुलिस को आना पड़ा। 

घर से बाहर निकले लोग, बाजार में दिखी रौनक

नई टिहरी में प्रशासन द्वारा अधिकांश दुकानों को शाम चार बजे तक खोलने के आदेश के बाद बाजार में रौनक छा गई। अन्य दिनों की भांति काफी संख्या में ग्राहक दुकानों पर नजर आए। चार बजे तक लोगों ने बाजारों में खरीददारी की। वहीं कई दिन बाद लोग भी अपने घरों से बाहर निकल पाए। 

पहले बाजार में सुबह सात बजे से लेकर एक बजे तक केवल राशन व दूध की ही दुकानें खुली रहती थी। जिस कारण बाजार दोपहर को सुनसान नजर आता था। अधिकांश दुकाने व कार्यालय बंद होने के कारण लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे थे। 

सोमवार से कुछ दुकानों को छोड़कर अधिकांश दुकानें सुबह सात बजे से चार बजे तक खुली रहने के कारण बाजार में फिर से पहले जैसा नजारा देखने को मिला। लोगों ने दुकानों में पहुंचकर अपनी जरूरत का सामान खरीदा। वहीं बच्चे भी खरीददारी करते नजर आए। 

जाम से हुए आम लोग परेशान

गोपेश्वर नगर में लॉकडाउन में दी गई छूट के पहले दिन नगर में वाहनों का जाम भी लगा। इस दौरान पुलिस को जाम खुलाने के लिए खासी मशक्कत करनी पड़ी।

जीरो बैंड और बाजार सहित अन्य जगह वाहनों की भीड़ के चलते जाम की स्थिति रही। पुलिस को जाम खोलने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। बाजार में भी मंदिर मार्ग पर वाहन

शारीरिक दूरी का नहीं हुआ पालन

बाजार खुलने पर नगर मुख्यालय गैरसैंण में भीड़ नजर आई। सड़कों पर दौड़ते वाहनों के साथ ग्रामीण मार्गों पर आवश्यक सामग्री के लिए दुकानों पर खरीदार करते दिखे। शराब की दुकानों में तो पुलिस जवानों को शारीरिक दूरी बनाने के लिए मशक्कत करनी पड़ी। इसी तरह गोचर में भी शराब की दुकानों पर लॉकडाउन के नियम की धज्जियां उड़ी। व्यापार संघ अध्यक्ष राकेश लिंगवाल और सामाजिक कार्यकर्ता कमलेश ने कहा कि शारीरिक दूरी का पालन न किया जाना भारी पड़ सकता है।

शारीरिक दूरी की  उड़ी धज्जियां

पौड़ी में लॉकडाउन-3 में शहर में शारीरिक दूरी की जमकर धज्जियां उड़ी। बैंक, दुकानों में लोग बेतरतीब खड़े दिखाई दिए। हालांकि इस दौरान पुलिस लोगों से शारीरिक दूरी बनाने के लिए कहती नजर आई। लॉकडाउन-तीन के दौरान बाजार में काफी चहल-पहल रही। बाजार में छूट मे दायरे में आने वाली सभी दुकानें खुली रही। 

इसके अलावा बैंक व अन्य सरकारी संस्थान भी खुले। करीब 40 दिन बाद दुकानों व कार्यालयों के खुलने से लोग बड़ी संख्या में बाजार पहुंचे। इस दौरान बाजार व बैंकों में जमकर शारीरिक दूरी का उल्लंघन किया गया। एसएसपी पौड़ी दलीप ङ्क्षसह कुंवर ने कहा कि शारीरिक दूरी का पालन सख्ती से कराया जाएगा। इसका उल्लघंन करने पर सख्त कार्रवाई होगी।

बाजार में उमड़ी भीड़, नियमों की उड़ी धज्जियां

कोटद्वार बाजार में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। बड़ी तादाद में लोग बाजार में खरीददारी करने पहुंचे। इस दौरान शारीरिक दूरी के अनुपालन संबंधी नियम की जमकर धज्जियां उड़ी। कोरोना महामारी के प्रसार को नियंत्रित करने के उद्देश्य से घोषित देशव्यापी लॉकडाउन के तीसरा चरण में कोटद्वार बाजार में आवश्यक वस्तुओं के साथ ही कपड़े, टेलरिंग शॉप, इलेक्ट्रानिक्स, जनरल स्टोर, घड़ी, पूजा सामग्री, बर्तन, हैंडलूम, कंप्यूटर शॉप के साथ ही मिष्ठान भंडार, चश्मे की दुकान, बिल्डिंग मैटीरियल, ऑटोमोबाइल, प्रिटिंग प्रेस खुले।

बाजार खुलने के साथ ही बाजार में लोगों की आवाजाही बढ़ गई। नतीजा, क्षेत्र में तमाम जगह शारीरिक दूरी का जमकर उल्लंघन हुआ।  

नहीं बने सफेद गोले 

प्रशासन की ओर से व्यापारियों को अपनी दुकानों के बाहर सफेद गोले बनाने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन शहर में अधिकांश दुकानों के बाहर सफेद गोले नहीं दिखाई दिए। ऐसे में लोग दुकानों के बाहर बेतरतीब तरीके से खड़े खरीददारी करते हुए दिखाई दिए। हालांकि पुलिस, पूर्व सैनिक व यूथ फाउंडेशन के सदस्य लोगों को शारीरिक दूरी का पालन करने की हिदायत देते नजर आए। 

पर्वतीय क्षेत्रों में भी उमड़ी भीड़

सतपुली में लॉकडाउन में छूट मिलते ही बाजार में भीड़ उमड़ पड़ी। बैंक सहित तमाम सार्वजनिक स्थानों पर शारीरिक दूरी संबंधी नियमों की जमकर धज्जियां उड़ी। बैंकों का समय दस बजे हुआ, लेकिन लोग सुबह सात बजे ही लोग बैंकों में पहुंच गए। थानाध्यक्ष त्रिभुवन रौतेला का कहना है कि बैंकों का समय बदलने के कारण बैंकों के आगे भीड़ दिखी। 

बताया कि पुलिस ने लोगों को शारीरिक दूरी का अनुपालन करने की हिदायत दी। उधर, बीरोंखाल, बैजरो, थलीसैण आदि बाजारों में यातायात खुलने के बाद चहल-पहल लौटी। बाजार में शारीरिक दूरी संबंधी नियमों की जमकर धज्जियां उड़ी।

लोग बगैर मास्क बाजार में घूमते दिखे। कालागढ़ की नई कालोनी में बाजार खुलने लोगों ने बाजारों में जाकर खरीददारी की। खरीददारी करते समय लोगों ने शारीरिक दूरी का पालन किया।

रुद्रप्रयाग में लॉकडाउन की धज्जियां

लॉकडाउन के बाद मिली छूट के दौरान रुद्रप्रयाग जनपद के सभी बाजारों में खूब भीड़ जुटी। कई स्थानों पर शारीरिक दूरी का पालन भी नहीं किया जा सका। सोमवार सुबह 8 बजे से ही रुद्रप्रयाग शहर समेत तिलबाड़ा, अगस्त्यमुनि, गुप्तकाशी, ऊखीमठ, जखोली आदि कस्बों में व्यापारियों ने दुकानें खोली। बाजारों में ग्रामीण क्षेत्रों से लोग पहुंचे, जिससे बाजारों में भारी भीड़ उमड़ गई। 

बैंकों के बाहर बड़ी संख्या में लोग पैसे जमा करने और निकालने के लिए पहुंचे। बैंक कर्मियों ने शारीरिक दूरी बनाने के लिए बार-बार कहा। भीड़ अधिक होने से कई जगह अव्यवस्था भी रही। कई लोग बिना मास्क के घूमते रहे। बाजारों में वाहनों के साथ ही लोगों की बड़ी संख्या में आवाजाही से जाम भी लगने लगा। 

यह भी पढ़ें: गढ़वाल के मयखानों में लग गई शौकीनों की कतार, नियम हुए तार-तार

लोग सार्वजनिक स्थानों पर जमा होते रहे। जिला ग्रीन जोन में होने के कारण जनपद में राहत भी है, लेकिन बाहरी क्षेत्रों से लोगों के आने के बाद संक्रमण से बचाव व जागरूकता होना जरूरी है। बाजार में इतनी अधिक भीड़ हो गई कि कई जगह पुलिस को भीड़ नियंत्रित करने के लिए मशक्कत करनी पड़ी, जबकि सड़क पर बेतरतीब खड़े वाहनों का चालान भी किया गया। 

यह भी पढ़ें: शराब की दुकानें खुली, खरीदने को उमड़े शौकीन; लगी लंबी लाइन

Posted By: Bhanu Prakash Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस