काशीपुर, जेएनएन। एक निर्दलीय पार्षद प्रत्याशी के पति ने समर्थकों के साथ मिलकर दूसरे निर्दलीय प्रत्याशी के समर्थक युवक पर हमला कर दिया। उनका गुस्सा यहीं शांत नहीं हुआ तो उन्होंने इस बीच बाजार से सामान लेकर लौट रहे युवक के चाचा पर भी हमला किया। देखते ही देखते आरोपितों ने सात-आठ राउंड फायरिंग कर दी। वहीं, मौके पर पुलिस को आते देख आरोपित वहां से फरार हो गए। बताया जा रहा है कि सुबह ट्रैक्टर के किराये को लेकर भी दोनों पक्षों में झगड़ा हुआ था। 

वार्ड नंबर-40 कचनालगाजी से पार्षद पद के लिए चार निर्दलीय प्रत्याशियों सहित छह प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतरे थे। कचनालगाजी निवासी जसविंदर सिंह पुत्र गुरदीप सिंह ने बताया कि उनका परिवार निर्दलीय प्रत्याशी वीरेंद्र सिंह को समर्थन दे रहा था। जबकि दूसरे निर्दलीय प्रत्याशी से उसकी अच्छी जान-पहचान थी। हालांकि, दोनों ही निर्दलीय प्रत्याशी हार गए। 

हारे हुए निर्दलीय प्रत्याशी के पति ने डेढ़ सौ समर्थकों के साथ जसविंदर पर हमला बोल दिया। इस बीच जसविंदर के चाचा पूरन सिंह पुत्र सुरेन सिंह स्कूटी से सामान लेकर घर लौट रहे थे। उन्हें एक युवक ने डंडा मारकर नीचे गिरा दिया। देखते ही देखते आरोपितों ने उनके ऊपर सात-आठ राउंड फायरिंग कर दी। 

सूचना पर एसएसआइ राजेश यादव, एसआइ लाखन सिंह, विजय सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस को आता देख आरोपित मौके से फरार हो गए। प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो मौके से एक 315 बोर का खोखा भी मिला है। पुलिस ने आरोपितों की तीन कारों को कब्जे में ले लिया है और जांच में जुट गई है। गनीमत रही कि इस दौरान किसी को ज्यादा चोट नहीं आर्इ।

ट्रैक्टर के किराये को लेकर सुबह हुआ था झगड़ा 

जसविंदर सिंह की मानें तो उसने 22 हजार रुपये माह के हिसाब से एक पार्षद प्रत्याशी के पति को ट्रैक्टर किराये पर दिया था। अब तक का करीब 2.50 लाख किराया बैठ रहा था। 66 हजार रुपये पार्षद प्रत्याशी पति ने जसविंदर को दे दिए थे। बुधवार सुबह जसविंदर किराया मांगने गया था। इस दौरान दोनों के बीच झगड़ा हुआ। पुलिस के अनुसार जसविंदर ने पार्षद प्रत्याशी के पति के मजदूर की पिटाई कर दी थी। 

यह भी पढ़ें: नोट बांटने के शक में घेरी एक प्रत्याशी के समर्थकों की कार, मारपीट

यह भी पढ़ें: निकाय चुनाव: ठेंगे पर दिखी आचार संहिता, खूब हुआ उल्लंघन

Edited By: Raksha Panthari