नई टिहरी, [जेएनएन]: टिहरी झील महोत्सव का शुक्रवार को भव्य आगाज हो गया। शुभारंभ पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि देश-दुनिया के पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए अगले साल झील में सी-प्लेन उतार दिया जाएगा। इस मौके पर उन्होंने 31 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण भी किया। तीन दिन तक चलने वाले महोत्सव के पहले दिन उत्तराखंड के लोक गायक पदम सिंह गुसाईं, रवि गुसाईं और पूजा जोशी की टीम ने कई बेहतरीन सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दीं। 

टिहरी जिले के जंगलों में लगी आग से फैली धुंध के कारण मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का हेलीकॉप्टर पांच घंटे विलंब से शाम चार बजे कोटि कॉलोनी में उतर पाया। दीप प्रज्ज्वलन कर सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ करने के बाद अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि टिहरी झील में देश-दुनिया के पर्यटकों को खींचने का सामर्थ्य है। लिहाजा, झील के विकास को यहां पर लगातार इस तरह के आयोजन किए जाएंगे।

स्थानीय लोगों को रोजगार देने के लिए बोटिंग, क्याकिंग, कैनोइंग, राफ्टिंग, पैरा सीलिंग, पैरा ग्लाइडिंग जैसे साहसिक खेल झील में नियमित अंतराल पर आयोजित कराए जाएंगे।

इससे पूर्व, सुबह 11 बजे पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने उत्तराखंड समेत आठ राज्यों की सांस्कृतिक परेड के साथ टिहरी झील महोत्सव का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि महोत्सव के आयोजन का उद्देश्य टिहरी झील को अंतरराष्ट्रीय मानचित्र पर बेहतर पर्यटक स्थल के रूप में स्थान दिलाना है। महाराज ने शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के साथ सांस्कृतिक परेड की सलामी भी ली।

टिहरी विधायक धन सिंह नेगी ने कहा कि कई निवेशकों ने टिहरी झील में निवेश की इच्छा जताई है। जल्द ही झील का मास्टर प्लान तैयार किया जाएगा। इस मौके पर टिहरी सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह, प्रतापनगर विधायक विजय सिंह पंवार, जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण, पूर्व मंत्री अमृता रावत, डीएम सोनिका, सीडीओ आशीष भटगाईं आदि मौजूद रहे। 

इन योजनाओं का किया शिलान्यास और लोकार्पण

-विकासखंड जाखणीधार के भवन का शिलान्यास

-चंबा में मल्टीलेवल पार्किंग का लोकार्पण

-स्वदेश दर्शन योजना के तहत कोटि में ईको लॉग व यूटिलिटी भवन का लोकार्पण

-स्वदेश दर्शन योजना के तहत कोटी में पार्किंग, पाथ-वे, व्यू प्वाइंट का लोकार्पण 

यह भी पढ़ें: इस जिले में तैयार हो रहे हैं एवरेस्ट विजेता, अब तक 12 ने किया एवरेस्ट का आरोहण

यह भी पढ़ें: आकाश चूमने के शौकीनों का गंगोत्री हिमालय में बसता है संसार

यह भी पढ़ें: पिथौरागढ़ के लवराज ने सातवीं बार फतह की एवरेस्ट की चोटी

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप