रुद्रप्रयाग, [जेएनएन]: केदारनाथ मंदिर परिसर व सामने वाले पैदल रास्ते पर पठाल (पहाड़ी शैली के पत्थर) बिछाने का कार्य सितंबर तक पूरा हो जाएगा। यहां बड़े आकार की 35 हजार और छोटे आकार की 40 हजार पठाल बिछाई जा रही हैं। अब तक लगभग 75 फीसदी कार्य पूरा हो चुका है।

केदारनाथ धाम में मंदिर परिसर से लेकर चबूतरे तक पहाड़ी शैली के पत्थर लगाए जा रहे हैं। बारिश के बावजूद इन दिनों भी कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। जनवरी से यह कार्य शुरू हुआ था और यात्रा सीजन में भी जारी रखा गया है। 

मई-जून महीने में यात्रियों की संख्या काफी अधिक रहने से कार्य में कई बार व्यवधान भी आया, लेकिन इन दिनों यात्रियों की आमद घटने से कार्य में तेजी आ गई है। प्रशासन ने सितंबर तक पत्थर लगाने का कार्य पूरा करने का लक्ष्य रखा है। 

धाम में दो तरह की पठाल लगाई जा रही हैं। इनमें एक पठाल का आकार बड़ा है, जबकि दूसरी का छोटा। बड़ी पठाल एक गुणा दो फीट आकार की है, जबकि छोटी चार गुणा दो इंच आकार की। अब तक मंदिर परिसर समेत आसपास के क्षेत्र में करीब 30 हजार पठाल बिछाई जा चुकी हैं। शेष पठाल भी बनकर तैयार हैं। इन्हें शीघ्र बिछा दिया जाएगा।

जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि पहाड़ी शैली की इन पठालों का बिछाने का कार्य सितंबर में पूरा कर लिया जाएगा। बताया कि सभी पठालों को तराश लिया गया है और जल्द इन्हें बिछाने का कार्य भी शुरू हो जाएगा।

यह भी पढ़ें: यहां से उठा सकेंगे केदारघाटी के विहंगम दृश्य का आनंद, जानिए

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में साहसिक पर्यटन को अब लग सकेंगे पंख, मिली यह मंजूरी

Posted By: Bhanu