रुद्रप्रयाग, [जेएनएन]: केदारनाथ में तीर्थ पुरोहितों के लिए भवन तैयार हो चुके हैं। अब प्रशासन इन भवनों को तीर्थ पुरोहितों को सौंपने की तैयारी कर रहा है। नए भवनों के निर्माण से केदारनाथ में छह हजार यात्री रात्रि विश्राम कर सकेंगे। इससे पहले यहां 4500 श्रद्धालुओं के ठहरने की ही व्यवस्था थी। 

रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि केदारनाथ में पुनर्निर्माण के कार्य युद्धस्तर पर किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं कार्य प्रगति पर निगाह रख रहे हैं। पिछले साल 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री ने जिन पांच योजनाओं का शिलान्यास किया था, तीर्थ पुराहितों के लिए बनने वाले भवन भी उसमें शामिल थे। 

योजना के अनुसार कुल 114 भवनों का निर्माण किया जाना है। इनमें से 42 तैयार हो चुके हैं। इन भवनों को जल्द ही तीर्थ पुरोहितों को सौंप दिया जाएगा। इससे वे यात्रा सीजन शुरू होने से पहले यहां फर्नीचर आदि की व्यवस्था कर लें। इससे उनके यजमानों को ठहरने में सुविधा होगी। जिलाधिकारी ने बताया कि इन 42 भवनों में कुल 210 कमरे हैं। 

इनमें करीब 1500 लोग ठहर सकते हैं। जबकि प्री-फेब्रिकेटेड हट और टेंट आदि में 4500 लोग रात्रि विश्राम कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि पीक सीजन में यहां प्रतिदिन दस से 12 हजार श्रद्धालु पहुंचते हैं। इनमें से करीब सात-आठ हजार लोग यहां रात्रि विश्राम करते हैं। ऐसे में प्रशासन के लिए भी समस्या हो जाती है। अब इससे काफी हद तक निजात मिल जाएगी। 

यह भी पढ़ें: केदारपुरी में पत्थर बिछाने कई प्रांतों से आएंगे कारीगर

यह भी पढ़ें: मोदी की मंशा के अनुरूप ढलने लगी केदारपुरी 

यह भी पढ़ें: केदारनाथ में निर्माणाधीन पावर प्रोजेक्ट की जांच के निर्देश

Posted By: Raksha Panthari