पौड़ी, [मनोहर बिष्ट]: उत्तराखंड में पलायन के बाद गांवों के खाली होने की तस्वीर दिखाती गढ़वाली लघु फिल्म 'डुटियाल जी प्रधान' इन दिनों यू-ट्यूब पर धूम मचा रही है। फिल्म को 10 दिन में 1.99 लाख से अधिक लोग देख चुके हैं। 1700 लोगों ने फिल्म को लाइक भी किया है, जो गढ़वाली फिल्म इतिहास में यू-ट्यूब पर नया रेकार्ड है।

फिल्म में सरकार की ओर से पहाड़ की उपेक्षा, पलायन की पीड़ा, बाहरी लोगो की बढ़ती आमद, मूल निवास को लेकर खतरों व युवा पीढ़ी को सजग करने का संदेश दिया गया है। फिल्म निर्माता गढ़कला सांस्कृतिक मंच के अध्यक्ष व लोक कलाकार त्रिभुवन उनियाल हैं, जबकि इसका निर्देशन बेचैन कंडियाल ने किया है। 

फिल्म को प्रसिद्ध लोक गायक अनिल बिष्ट के यू-ट्यूब चैनल अनिल बिष्ट इंटरटेनमेंट पर 22 अगस्त को रिलीज किया गया। इसमें तकनीकी बदलाव व कुछ पात्रों के वॉयस नए सिरे से रेकार्ड किए हैं। 

फिल्म के निर्माण की परिकल्पना राज्य गठन के समय ही लोक कलाकार त्रिभवुन उनियाल ने की थी और इसका फिल्मांकन भी 2002-03 में किया गया था। फिल्म की शूटिंग जनपद पौड़ी के पैठाणी क्षेत्र में की गई। इसमें प्रदेश की भावी तस्वीर को उकेरा गया था। इसके चलते फिल्म वर्तमान परिपेक्ष की सच्चाई बनकर उभर रही है।22 मिनट की इस फिल्म में उत्तराखंड के एक गांव को दर्शाया है, जहां पलायन के बाद नेपाल मूल के लोगों की संख्या में बढ़ोत्तरी होती है। एक दिन गांव में नेपाल मूल का एक व्यक्ति ग्राम प्रधान बन जाता है। गांव का एक युवा यह सब देखकर उस दिन दंग रह गया। जब वह मुंबई से ग्राम प्रधान को मिलने गांव आता है। वह उसे आवाज देता है तो सामने नेपाल मूल का व्यक्ति दिखता है। इसके इर्दगिर्द ही यह फिल्म घूम रही है।

यह भी पढ़ें: इस बाल कलाकार के गाने ने यू-ट्यूब पर मचाया धमाल, जानिए

यह भी पढ़ें: सिगिंग रियलिटी शो सारेगामापा के ऑडिशन में 20 प्रतिभागी पहुंचे अगले दौर में

यह भी पढ़ें: इम्तियाज की 'लैला मजनू' में नजर आएंगी रुद्रप्रयाग की तृप्ति डिमरी

Posted By: Sunil Negi