संवाद सहयोगी, कोटद्वार : रीवर ट्रेनिग के नाम पर कोटद्वार की खोह नदी में चल रहे खनन कार्य से स्टेडियम के बाद अब सेना के कौड़िया स्थित मोटर ट्रेनिग ग्राउंड को खतरा पैदा हो गया है। शुक्रवार को सिचाई विभाग व प्रशासन की टीम ने मौके पर पहुंचकर खनन कार्य का निरीक्षण किया। साथ ही पट्टाधारकों को नदी के तट में किसी तरह का खनन न करने के निर्देश जारी किए। नायब तहसीलदार राजेंद्र ममगाई ने बताया कि पट्टाधारकों को नदी के मध्य से उपखनिज उठाने को कहा गया है। साथ ही नदी तट पर किए गए गड्ढों को भरने के निर्देश भी पट्टाधारकों को दिए हैं।

बता दें खनन कार्य से सेना के उस मैदान को खतरा पैदा हो गया है, जिसमें गढ़वाल राइफल्स रेजीमेंटल सेंटर के जवान छोटे-बड़े वाहनों को चलाने का प्रशिक्षण लेते हैं। खनन पट्टाधारक खोह नदी से सटे मैदान की बाउंड्री तक पहुंच गए हैं। ऐसे में यदि खोह नदी उफान पर आती है तो यह मैदान नदी के भेंट चढ़ जाएगा। इतना ही नहीं, नदी के समीप ही सेना का बलवीर स्टेडियम भी है, जहां रेजीमेंट की भर्ती प्रक्रिया संपन्न होती है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस