जागरण संवाददाता, पिथौरागढ़: Amrit Sarovar Yojana विकास खंड मुनस्यारी के प्रमुख पर्यटक स्थल बिर्थी झरने के पास अब अमृत सरोवर सौंदर्य को चार चांद लगा चुका है। क्षेत्र में मनरेगा के तहत अमृत सरोवर पर ग्रामीणों ने स्वतंत्रता दिवस पर झंडारोहण कर जश्न मनाया। सुबह से लेकर सायं तक यहां पर ग्रामीण झोड़ा, चांचरी गायन करते रहे।

126 मीटर ऊंचा है झरना

थल-मुनस्यारी मार्ग पर मुनस्यारी से 38 किमी पूर्व 18 सौ मीटर की ऊंचाई पर खलिया टाप पहाड़ी से गिरने वाला  126 मीटर ऊंचा झरना प्रमुख पर्यटक स्थल है। देश, विदेश से आने वाले पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र है। जिसे देखते हुए यहां पर कुमाऊं मंडल विकास निगम ने अपना पर्यटक आवास गृह बनाया है।

झरना देखने आते हैं देशभर के पर्यटक

बिर्थी एक ऐसा स्थल है जहां पर साल भर पर्यटक पहुंचते हैं। एक तरफ खलिया से गिरने वाला झरना तो दूसरी बिर्थी से नीचे बहने वाली जाकुल नदी और अब बिर्थी में अमृत सरोवर बिर्थी को एक नया स्वरूप दे चुका है।

पर्यटन संग पानी संरक्षण भी

अमृत सरोवर को लेकर ग्रामीणों का उत्साह और खुशी स्वतंत्रता दिवस पर देखने को मिली। सुबह ग्रामीणों ने सरोवर के पास तिरंगा फहराया और उसी के साथ यहां पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। दिन भर ग्रामीण अपनी परंपरागत झोड़ा, चांचरी का गायन करते रहे। 

सरोवर के किनारे गोल घेरे में महिला, पुरुष सायं तक यहां पर झोड़ा, चांचरी का गायन करते रहे। सुबह झंडारोहण के दौरान सरोवर के चारों तरफ प्रभातफेरी निकाली गई । राइंका बिर्थी के बच्चों सहित  तल्ला जोहार के ग्रामीण जनप्रतिनिधि व विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

ग्रामीणों का कहना है कि अब मुनस्यारी जाने वाले पर्यटक बिर्थी में अधिक समय व्यतीत करेंगे जिससे पर्यटन विकास होगा।

अमृत महोत्सव की धूम

बिर्थी से लगभग 40 किमी दूर तल्ला भैंस्कोट में भी अमृत महोत्सव का आजादी के दिवस पर ग्रामीणों ने शुभारंभ किया। गांव के युवा समाजसेवी जगत दशौनी ने अमृत महोत्सव पर झंडारोहण किया। उन्होंने कहा कि अमृत सरोवर बांसबगड़ घाटी में भी पर्यटन के द्वार खोलेगा। 

उन्होंने बताया कि पहाड़ की चोटी से निकलने वाले शुद्ध जल से भरा अमृत सरोवर लोगों की प्यास भी बुझाएगा। इस मौके पर ग्राम प्रधान मीना देवी, वीडीओ एमएस खड़ायत, गोविंद कुमार, प्रधानाध्यापक बसंती देवी,शिक्षक, शिक्षिकाएं, गांव निवासी दुर्योधन सिंह, भरत राम, बाला राम, मनोहर सिंह, स्वयं सहायता समूह के सदस्य उपस्थित रहे। स्वतंत्रता दिवस के सभी कार्यक्रम सरोवर के पास ही आयोजित किए गए।

Edited By: Prashant Mishra