हल्द्वानी, [जेएनएन]: अंतरराष्ट्रीय हिंदू परिषद के अध्यक्ष डॉ. प्रवीण तोगड़ि‍या ने कहा कि भाजपा को सत्ता में आए हुए साढ़े चार साल हो गए, लेकिन केंद्र सरकार संसद में अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए कोई कानून नहीं बना पाई। मोदी सरकार अब मंदिर का मुद्दा कोर्ट में सुलझाने की बात कर रही है। यदि कोर्ट ही जाना था तो सोमनाथ से रथयात्रा निकालना क्या हिंदुओं को धोखा देना था। उन्होंने कहा कि राम मंदिर निर्माण के लिए जनता ने नरेंद्र मोदी को वकील बनाकर भेजा गया था, लेकिन वह तीन तलाक का कानून बनाकर मुस्लिम महिलाओं के वकील बन गए। 

बुधवार को रुद्रपुर के बाद हल्द्वानी पहुंचे तोगड़ि‍या ने कार्यकर्ताओं के साथ सीधी बात करते हुए राम मंदिर के साथ ही आम आदमी के मुद्दों पर केंद्र की मोदी सरकार को कठघरे में खड़ा किया। साथ ही परिषद का एजेंडा कार्यकर्ताओं के सामने रखा। उन्होंने कहा कि हिंदू समाज ने जो सुनहरे सपने देखे थे वह आज जुमले बनकर रह गए हैं। पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से महंगाई चरम पर है।

इसे नियंत्रित करने के लिए सरकार के पास कोई नीति नहीं है। जो पेट्रोल भारतीयों को मात्र 39 रुपये प्रति लीटर मिलना चाहिए, उस पर सरकार 42 से 47 रुपये तक टैक्स वसूल रही है। कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले लोगों ने कांग्रेसियों को ही भाजपा सौंप दी। उत्तराखंड में दस में से पांच मंत्री कांग्रेस पृष्ठभूमि के हैं और बीस से अधिक विधायक पहले कांग्रेस में रहे हैं। तोगड़िया ने कहा कि कश्मीरी हिंदुओं को मोदी पूरी तरह भूल चुके हैं। राम मंदिर की भांति धारा 370 हटाना अब बीजेपी के एजेंडे से हट चुका है।

यह भी पढ़ें: तोगड़िया बोले, यदि हम मंदिर नहीं बना पाए तो वह दिन दूर नहीं जब हिंदू अल्पसंख्यक हो जाएंगे

यह भी पढ़ें: मिशन-2019 के लिए ये है बीजेपी का हार्इटेक फॉर्मूला 

Posted By: Sunil Negi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप