भीमताल : विकासखंड रामगढ़ में उत्पादित होने वाले फल शीघ्र ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाएंगे। 17.5 लाख की लागत से रामगढ़ में इसके लिए एक प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित होने जा रही है। यह नैनीताल जनपद की सबसे बड़ी फ्रूट प्रोसेसिंग यूनिट होगी।

रामगढ़ विकासखंड के 17 स्वयं सहायता समूहों से जुड़े करीब 186 लोग इस महत्वपूर्ण कार्य में अपना योगदान देंगे। इस कार्य को राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन से संपादित होना है। ब्लाक स्तर से इस कार्ययोजना का प्रस्ताव भेजा गया है। ग्रोथ सेंटर के तहत रामगढ़ में उत्पादित होने वाले नाना प्रकार के फलों की प्रोसेसिंग की व्यवस्था की जाएगी और फल उत्पादकों को उत्पादों का उचित दाम दिलाने के प्रयास होंगे।

स्थानीय लोगों की मानें तो खुमानी, पुलम, सेब आदि का अत्यधिक उत्पादन होने पर फल उत्पादक काफी कम दामों पर उन्हें मंडी में भेज देते थे। ऐस में उन्हें कभी-कभी उत्पादन की लागत भी नहीं मिल पाती थी। अब रामगढ़ में फ्रूट प्रोसेसिंग यूनिट बनने से फल उत्पादकों को फलों के उचित दाम मिलेंगे। इस यूनिट में फलों को पल्प में बदल दिया जाएगा और बाद में इससे जैम, आचार व चटनी आदि तैयार की जाएगी।

------

आउटलेट में बेचे जाएंगे उत्पाद

ब्लाक स्तर से संचालित होने वाली इस योजना के तहत तैयार उत्पाद सीधे उपभोक्ता तक पहुंचे इसके लिये आउट लेट की सहायता ली जायेगी। उत्पाद श्यामखेत, मुक्तेश्वर के आउटलेट में तो यह उपलब्ध होंगे ही साथ ही रामगढ़ ब्लाक ने सूपी में भी एक आउटलेट प्रस्तावित किया है। वहीं उद्यान विभाग द्वारा उत्पादों के संदर्भ में होटल स्वामियों और प्रबंधकों की बैठक भी बुलाई जानी है ताकि उसके माध्यम से भी उत्पाद को बाजार उपलब्ध हो सके।

------

यह रामगढ़ के फल उत्पादकों के लिए महत्वपूर्ण योजना है। इससे उन्हें उत्पादों का उचित दाम मिल सकेगा। ग्रोथ सेंटर के रूप में विकसित होने वाली इस योजना का प्रस्ताव शासन को भेज दिया गया है। स्वीकृत होते ही यूनिट में मशीनों की स्थापना का कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा।

-चंद्रा राज, खंड विकास अधिकारी रामगढ़

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस