पिथौरागढ़, जेएनएन : पिथौरागढ़ विधानसभा उप चुनाव में नामांकन समाप्त होने की तिथि बस एक दिन दूर है। कांग्रेस से अभी तक कोई प्रत्याशी घोषित नहीं हुआ है। कांगे्रस के मयूख महर द्वारा चुनाव नहीं लडऩे पर पैदा हुए संकट को दूर करने के लिए प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह और नेता प्रतिपक्ष डॉ. इंदिरा हृदयेश, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल पिथौरागढ़ पहुंच चुके हैं। पहले राउंड की बैठक में भी प्रत्याशी का चयन नहीं हो सका अलबत्त्ता कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मयूख महर को ही प्रत्याशी बनाने की वकालत की तो मयूख महर ने चुनाव नहीं लडऩे की बात दोहराई।

सायं को पिथौरागढ़ पहुंचे प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह और नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश गांधी चौक पहुंचे । जहां पर मयूख महर के चुनाव लडऩे की मांग को लेकर धरने पर बैठे कांग्रेसियों को उठाया । इसके बाद बाखली होटल में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ बैठक हुई। इस मौके पर सभी कार्यकर्ताओं ने एक स्वर से मयूख महर को ही प्रत्याशी बनाए जाने की मांग रखी। वहीं, मयूख महर ने कहा कि वह कार्यकर्ताओं की भावनाओं का सम्मान करते हैं परंतु चुनाव लडऩे की स्थिति में नहीं हैं। पूर्व राज्यसभा सांसद महेंद्र सिंह माहरा, पूर्व पालिकाध्यक्ष जगत सिंह खाती सहित अन्य सभी वक्ताओं ने मयूख महर को भी प्रत्याशी बनाए जाने की वकालत की।

मयूख महर के चुनाव नहीं लडऩे की इच्छा जताए जाने से बैठक में कुछ तय नहीं हो सका। इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि मयूख महर को ही प्रत्याशी बनाने के लिए राजी कर लिया जाएगा। कांग्रेस के प्रत्याशी मयूख महर ही होंगे। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश और पूर्व विस अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने भी मयूख महर को राजी कर लेने का भरोसा जताया। बैठक के देर रात तक चलने की संभावना है। बैठक में प्रत्याशी का चयन होने के आसार हैं।

इधर, छह नवंबर को नामांकन की अंतिम तिथि करीब है। कांग्रेस से अभी तक प्रत्याशी चयन नहीं हुआ है। माना जा रहा है कि सोमवार की रात्रि को ही प्रत्याशी के नाम का चयन कर लिया जाएगा। कांग्रेसी खेमे में प्रत्याशी के नाम को लेकर चर्चा जोरों पर है। कांग्रेस से टिकट के दावेदार भी रात को होने वाली बैठक को लेकर बैठक स्थल के बाहर पहुंच चुके हैं।

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस