हल्द्वानी, जेएनएन : आर्ट ऑफ लिविंग संस्था के प्रणेता श्री श्री रविशंकर आठ मार्च को हल्द्वानी में लोगों को अध्यात्म, ज्ञान व ध्यान से जीवन जीने की कला बताएंगे। एमबी इंटर कॉलेज ग्राउंड में सायं चार बजे महासत्संग होगा। शनिवार को द आर्ट ऑफ लिविंग संस्था के उत्तराखंड अपेक्स बॉडी के सदस्य धीरेंद्र कबड़वाल ने पत्रकार वार्ता में महासत्संग की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि श्रीश्री रविशंकर प्रथम बार हल्द्वानी आ रहे हैं। संस्था ने वर्ष 2006 में हल्द्वानी में आर्ट ऑफ लिविंग के कार्यक्रमों की शुरुआत की थी। वर्तमान में संस्था के कार्य विश्व के 156 देशों में विस्तार लिए हुए हैं। कार्यक्रमों में हर जाति, धर्म व संस्कृति से जुड़े 37 करोड़ से अधिक लोग लाभान्वित हुए हैं। उन्होंने बताया कि आयोजन की तैयारियां जोरशोर से चल रही हैं।

25 हजारे के सत्‍संग लाभा लेने का है अनुमान

कुमाऊं के विभिन्न शहरों से 25 हजार से ज्यादा लोगों के महासत्संग में भाग लेने का अनुमान है। पांच साल से कुमाऊंभर में संस्था से जुड़े लोग श्रीश्री के हल्द्वानी आने का इंतजार कर रहे थे। इस अवसर पर दीपक गुप्ता, आरएस कालाकोटी, उद्योग भारती, भूषण तिवारी, रवि जोशी, दीपक सुयाल, हिमांशु उपाध्याय सहित संस्था से जुड़े अन्य लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें : जून में शुरू होगी कैलास मानसरोवर यात्रा, जल्‍द शुरू होंगे पंजीकरण

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस