सितारगंज, जेएनएन : सितारगंज के सिद्धि विनायक कॉलोनी में एक युवक ने कनपटी पर गोली मार कर आत्महत्या कर ली। घटना के वक्त घर में कोई नहीं था। मौत का कारण अभी स्पष्ट नही हो सका है। पुलिस ने शव को अस्पताल पहुंचा दिया है। वही पुत्र की मौत से मां का रो-रोकर बुरा हाल है। बताया जा रहा है कि युवक पेंटिंग करता था।

बहन की हो गई है शादी, मां के साथ घर में रहता था युव‍क

सितारगंज में बिज्टी मार्ग पर अमृतपाल कौर का मकान है। वह निजी अस्पताल में नर्स हैं। उनके पति कुलवंत सिंह का बीस साल पहले देहांत हो चुका है। अमृतपाल कौर के दो बच्चे हैं। पुत्री बड़ी है उसका विवाह हो चुका है। मां और पुत्र मकान में रहते हैं। बताया जा रहा कि अमृतपाल कौर बेटी के घर गई हुई थी। पुत्र गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी 23 वर्ष घर में अकेला था। शनिवार सात बजे जब अमृतपाल कौर घर लौटी तब घर का गेट अंदर से बंद था। आवाज देने पर भी जब गेट नहीं खुला तो आसपास के लोगों ने किसी तरह दीवार फांद कर घर के अंदर पहुंचे। घर के अंदर एक कमरे में कुर्सी पर गुरप्रीत औधे मुंह पड़ा था। आसपास खून पड़ा था। जिसे देखकर अमृतपाल कौर के होश उड़ गए। आसपास के लोगो ने पुलिस को सूचना दी।

युवक के पास से नशे की गोलियां भी मिलीं

सूचना मिलते ही कोतवाल सलाउद्दीन व एसएसआई सीएस बिष्ट मौके पर पहुंचे। एसएसआई ने बताया कि गुरप्रीत की कनपटी पर 315 बोर तमंचे की गोली लगी हुई थी। उन्होंने बताया कि तमंचे से गोली मार कर गुरप्रीत ने आत्महत्या की है। शव के पास नशे का सेवन करने वाली वस्तुएं भी पुलिस को मिली हैं। आसपास के लोगो ने बताया कि गुरप्रीत चित्रकार था। कोतवाल सलाउद्दीन ने बताया कि मामले की पड़ताल की जा रही है। अभी मौत का कारण स्पष्ट नही हो सका है।

मोबाइल से खुल सकता है मौत का राज

गुरुप्रीत का मोबाइल मौत का राज खोलेगा। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मौत के पहले गुरूप्रीत ने किससे बात की। यह जानकारी मोबाइल से ही मिलेगी। उन्होने कहा कि पुलिस हर बिंदु की पड़ताल कर रही है।  

यह भी पढ़ें : जायदाद के लालच में हत्या कर साक्ष्य मिटाने के लिए कर दिया अंतिम संस्‍कार

यह भी पढ़ें : उत्‍तराखंड का कद और कीमत दोनों बढ़ा गया पहला नेशनल डाउनहिल साइकिलिंग इवेंट 

Posted By: Skand Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस