नैनीताल, जागरण संवाददता : नोएडा के पर्यटक की प्रेमी द्वारा नैनीताल होटल के कमरे में हत्या कर देने के बाद सोमवार देर रात ही परिजन नैनीताल पहुंच गए। मंगलवार सुबह पुलिस ने पंचनामा और पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू कर दी है। मृतका के परिजनों और दोस्तों ने इसे लव जिहाद करार दिया है। भाई ने आरोप लगाते हुए कहा कि वह कई बार आरोपित युवक से मिला था और उसने हर बार अपना नाम ऋषभ तिवारी बताया था। दोस्तों ने आरोप लगाए कि आरोपित की फेसबुक आईडी भी ऋषभ तिवारी नाम से थी। जिससे पूरी तरह मामला लव जिहाद का ही मालूम पड़ रहा है।

बता दें की होरिजन होम्स एक्सटेंशन गौतम बुद्धनगर निवासी दीक्षा मिश्रा अपने प्रेमी ऋषभ उर्फ इमरान और अन्य दो दोस्तों के साथ 14 अगस्त को नैनीताल घूमने के लिए पहुंचे थे। 15 अगस्त को दीक्षा का जन्मदिन मनाने के बाद सभी दोस्तों ने एक ही कमरे में दारू पार्टी की। साथ में आए दोनों दोस्त रात को अलग कमरे में चले गए। इसी बीच रात को ऋषभ उर्फ इमरान दीक्षा की हत्या कर फरार हो गया।

ऋषभ के खिलाफ हत्या का मुकदमा

मामले में कोतवाली पुलिस ने दीक्षा के दोस्तों की तहरीर पर प्रेमी ऋषभ के खिलाफ हत्या की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। जिसके बाद देर रात कोतवाली एसआई नितिन बहुगुणा की अगुवाई में एक टीम आरोपी की धरपकड़ को लेकर नोएडा को रवाना हो चुकी है। दीक्षा की हत्या की खबर सुन देर रात ही उसकी मां बीना मिश्रा, भाई अंकुर मिश्रा, दोस्त सीमा शर्मा, कशिश चौधरी नैनीताल पहुंच गए। मंगलवार सुबह कोतवाली पुलिस द्वारा परिजनों की मौजूदगी में शव का पंचनामा भरा गया। जिसके बाद फिलहाल पोस्टमार्टम की प्रक्रिया जारी है।

परिजनों ने बताया लव जिहाद

पुलिस और परिजनों की पड़ताल के बाद सामने आया कि खुद को ऋषभ तिवारी बताने वाले आरोपी युवक का मूल नाम इमरान है। जिस पर परिजन और मृतका के दोस्त भी दंग रह गए। उन्होंने दीक्षा और ऋषभ उर्फ इमरान के संबंधों को लव जिहाद करार दिया। कहा कि दीक्षा अच्छे जॉब में होने के कारण बेहतर कमाती थी। अकेले रहने के कारण ऋषभ ने किसी तरह उसे फंसा लिया होगा। हालांकि मृतका के सीने में इमरान के नाम का टैटू बना हुआ था, जिससे स्पष्ट होता है कि वह ऋषभ के इमरान होने की बात से पहले से वाकिफ थी।

Edited By: Skand Shukla